परेशानियों से पाना चाहते हैं छुटकारा तो इन बातों का रखें ध्यान

Monday, November 6, 2017 1:19 PM
परेशानियों से पाना चाहते हैं छुटकारा तो इन बातों का रखें ध्यान

वास्तु शास्त्र के अनुसार कुछ वस्तुएं ऐसी होती हैं जो घर में नकारात्मक ऊर्जा लाने का काम करती हैं। वह धीरे-धीरे घर के वातावरण को बिगाड़ती हैं और हमारे जीवन पर गहरा प्रभाव बनाती हैं। यह एक प्रकार की किरणों के रूप में हमें नुकसान पहुंचाती हैं। कुछ ऐसी ही भावना से भरपूर होती है ‘नकारात्मक ऊर्जा’, जिसे ‘नैगेटिव एनर्जी’ भी कहा जाता है। इस नैगेटिव एनर्जी का हमारी दिनचर्या पर खासा असर होता है। हम मानें या ना मानें, लेकिन यह नकारात्मक शक्तियां हमारे जीवन पर बुरा प्रभाव डालने में खासतौर पर हिस्सेदार होती हैं। वास्तु के नियमों का पालन करते हुए दिशाओं और वस्तुओं का ध्यान रखा जाए तो घर-दुकान का वातावरण अच्छा बना रह सकता है।



*घर-दुकान में खिड़की-दरवाजों की संख्या सम यानी 2, 4, 6, 8 या 10 हो तो शुभता का आगमन होता है। संख्या सम न होने पर खिड़की-दरवाजों पर विंड चाइम लगा दें।

 

*घर-दुकान में अनुपयोगी और बेकार सामान नहीं होना चाहिए। ऐसी चीजों से वहां के सदस्यों के बीच तनाव बना रहता है।

 

*धन के स्थान को खुशबूदार बनाए रखने से धन संबंधी लाभ होता है। इसके लिए अगरबत्ती, इत्र, परफ्यूम आदि का उपयोग किया जा सकता है।

 

*तिजौरी के दरवाजे पर कमल के आसन पर बैठी हुई महालक्ष्मी की तस्वीर लगाने से धन में वृद्धि होती है। 


*घर-दुकान का मुख द्वार पूर्व या उत्तर दिशा में हो तो बहुत अच्छा रहता है, लेकिन एेसा न हो तो घर-दुकान के मुख द्वार पर स्वास्तिक, श्रीगणेश का चिह्न बना दें।


*शाम के समय कुछ देर के लिए पूरे घर में रोशनी अवश्य करें। शाम के समय घर में अंधेरा रखने से लक्ष्मी रूठ जाती हैं।


*घर-दुकान में मकड़ी के जाले नहीं होने पर राहु ग्रह से अशुभ फल प्राप्त होते हैं।


*घर के मुख पूर्व पर तुलसी का पौधा रखने और उसे जल अर्पित करने से आत्म विश्वास में बढ़ोतरी होती है।



यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!