हर कार्य में सफलता पाने के लिए ध्यान रखें विदुर नीति की ये बातें

Sunday, April 30, 2017 3:59 PM
हर कार्य में सफलता पाने के लिए ध्यान रखें विदुर नीति की ये बातें

महाभारत में प्रत्येक व्यक्ति महान अौर अद्भुत था। इसी प्रकार विदुर भी परम ज्ञानी और महान इंसान थे। विदुर हस्तिनापुर राज्‍य के शीर्ष स्‍तंभों में से एक अत्‍यंत नीतिपूर्ण, न्‍यायोचित सलाह देने वाले माने गए है। विदुर ने कई नीतियों का उल्लेख किया है। जिन पर अमल करने से व्यक्ति सुख अौर प्रसन्नता से अपना जीवन यापन कर सकता है। विदुर ने कुछ ऐसी बातों के बारे में बताया है जिन पर अमल करके कार्य में सफलता प्राप्त की जा सकती है। 

निश्चित्य य: प्रक्रमते नान्तर्वसति कर्मण: | 
अवन्ध्यकालो वश्यात्मा स वै पण्डित: उच्यते | |


विदुर के अनुसार किसी भी कार्य को शुरू करने से पूर्व उसके बारे में पूरी तरह  से तैयारी कर लेनी चाहिए। इसके साथ ही कार्य को सफल करने का भी निश्चय कर लें। ऐसा करने से कार्य में सफलता अवश्य मिलती है। 

जब भी कोई कार्य आरंभ करें तो उसे किसी भी कारण से बीच में न छोड़ें। ऐसा करना सफलता में सबसे बड़ी बाधक बनती है इसलिए कारण कोई भी क्यों न हो कार्य को पूरा करके ही छोड़ें। 

जो व्यक्ति समय की कदर किए बिना उसे व्यर्थ के कार्यों में नष्ट करता है, उसे भी सफलता नहीं मिलती। किसी कला या कार्य में सफल होने के लिए अन्य गतिविधियों में समय व्यर्थ न करें।

विदुर नीति के अनुसार मन अौर इच्छाअों को वश में रखना चाहिए। जो लोग ऐसा नहीं कर पाते वह कार्य में सफलता हासिल नहीं कर पाते। सफलता प्राप्ति हेतु इच्छाअों को वश में रखकर काम के प्रति समर्पित होना जरूरी है।



विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !