आज का गुडलक- अनंत चतुर्दशी पर्व पर बांधे अनंत सूत्र

Tuesday, September 5, 2017 6:56 AM
आज का गुडलक- अनंत चतुर्दशी पर्व पर बांधे अनंत सूत्र

मंगलवार दि॰ 05.09.17 भाद्रपद शुक्ल चतुर्दशी पर अनंत चतुर्दशी पर्व मनाया जाएगा। अग्नि पुराण के अनुसार इस दिन अनंत रूप में भगवान विष्णु का पूजन कर नर के दाईं व नारी के बाईं कलाई पर अनंत सूत्र बंधा जाता है। अनंत सूत्र कुंकमी रंग के चौदह गांठें लगे हुए सूत को कहा जाता है। हेमाद्रि शस्त्रनुसार अनंत सूत्र पर लगी 14 गांठें 14 लोकों की द्योतक हैं। यह दिन अंतहीन सृष्टि के कर्ता निर्गुण ब्रह्म को समर्पित है। सर्वप्रथम अनंत चतुर्दशी का महात्म श्रीकृष्ण ने युधिष्ठिर को बताया था। अनंत चतुर्दशी के विशेष पूजन से व्यक्ति का कल्याण होता है तथा सारी मुसीबतें दूर होती हैं।


पूजन विधि: भगवान अनंत के चित्र की विधिवत पूजा करें। घी का दीप करें, गुगल धूप करें, लाल फूल, केसर, हल्दी, कुंकुम गुड व अनंत सूत्र चढ़ाएं। पूजन मंत्र की 1 माला जपें। पूजा के बाद गुड़ खिलाएं व विशिष्ट श्लोक बोलते हुए अनंत सूत्र धारण करें।


विशिष्ट श्लोक: अनंत संसार महासमुद्रेमग्नं समभ्युद्धर वासुदेव। अनंतरूपे विनियोजयस्वह्यनंतसूत्राय नमो नमस्ते॥


पूजन मंत्र: ॐ अनंताय नमः॥


पूजन मुहूर्त: दिन 11:35 से दिन 12:25 तक या शाम 19:05 से रात 20:25 तक।

 

महूर्त विशेष
अभिजीत मुहूर्त
: दिन 11:54 से दिन 12:44 तक।


अमृत काल: अगले दिन प्रातः 05:35 से प्रातः 07:13 तक।


यात्रा मुहूर्त: दिशाशूल - उत्तर, राहुकाल वास - पश्चिम। अतः उत्तर व पश्चिम दिशा की यात्रा टालें।


वर्जित मुहूर्त: दिन 12:41 से रात 12:41 तक भद्रा (पृथ्वी) रहेगी जिसमे शुभ कार्य वर्जित है।


आज का गुडलक ज्ञान
गुडलक कलर:
सिंदूरी।


गुडलक दिशा: ईशान।


गुडलक टाइम: दिन 11:30 से दिन 12:30 तक।


गुडलक मंत्र: ॐ अच्युताय नमः॥


गुडलक टिप: संकटों के नाश हेतु गणेश जी पर सिंदूर चढ़ाएं।


गुडलक फॉर बर्थडे: सफलता हेतु कच्चे सूत को केसर से रंग कर श्रीविष्णु के मंदिर में चढ़ाएं।


गुडलक फॉर एनिवर्सरी: दंपति द्वारा भगवान विष्णु पर लाल फल चढ़ाने से दांपत्य संबंध ठीक होंगे।


आचार्य कमल नंदलाल
ईमेल: kamal.nandlal@gmail.com



यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!