सदियों से होलिका दहन पर भारत में हो रहे हैं ये प्रयोग, आप भी पाएं लाभ!

Wednesday, March 8, 2017 12:59 PM
सदियों से होलिका दहन पर भारत में हो रहे हैं ये प्रयोग, आप भी पाएं लाभ!

होलिका दहन पर विभिन्न समस्याओं के लिए कर सकते हैं एक से अधिक विशेष उपाय। ये अनुभूत उपाय हैं जिन्हें सदियों से हमारे देश में प्रयोग कर लाभ उठाया जा रहा है। धनवृद्धि हेतु होलिका में यह मंत्र ‘ओम् श्रीं हृीं श्रीं महालक्ष्मय नम:’ 108 बार पढ़ते जाएं और शक्कर की आहुति देते जाएं । 


यदि राज्यप्रकोप- हो तो तेजफल और गेहूं की एक मुट्ठी होलिका में डालें ।


किसी प्रकार का विवाद, दोस्तों से मनमुटाव हो तो एक मुट्ठी चावल और 7 फूटी कौडिय़ां  होलिका में भस्मित करेंं ।


भाइयों से मनमुटाव या भूमि विवाद हो तो 11 नीम की पत्तियां और लाल चंदन, होलिका दहन में अर्पित करें ।


गले या वाणी संबंधी रोग के लिए-हरी मूंग की एक मुट्ठी डालें ।


पिता या किसी बुजुर्ग से विवाद समाप्ति हेतु, हल्दी की 7 गांठें और एक मुट्ठी चने की दाल डालें ।

 

खांसी,अस्थमा से पीड़ित व्यक्ति के ऊपर से 7 बार उल्टा घुमाकर 48 बादाम होलिका में समर्पित करें ।

 

पुत्र या पुत्री से परेशानी हों या वह कहने में न हों तो सूखे प्याज लहसुन और हरा नींबू डालें। 

 

रोग निराकरण के लिए एक सूखा नारियल, एक लौंग, काले तिल, सरसों  पीड़ित पर 7 बार उल्टा घुमा कर होलिका में डालें ।




विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !