शुक्रनीति: इन आदतों से बनाकर रखें दूरी, पूरा परिवार हो जाता है बर्बाद

Monday, July 3, 2017 3:06 PM
शुक्रनीति: इन आदतों से बनाकर रखें दूरी, पूरा परिवार हो जाता है बर्बाद

गुरु शुक्राचार्य चतुर नीतिकार थे। उन्होंने अपनी नीतियों को लिपिबद्ध करके शुक्रनीति नाम के प्रसिद्ध नीतिग्रंथ की रचना की। इस नीतिसार का जो व्यक्ति अनुसरण करता है, उसका जीवन बेहतर और चरित्र सशक्‍त बनता है। शुक्रनीति में ऐसी आदतों के बारे में बताया गया है, जिनसे हर किसी को दूर ही रहना चाहिए। इन आदतों से न सिर्फ व्यक्ति अपितु उसका पूरी परिवार बर्बाद हो जाता है। इन आदतों से सदैव दूरी बनाकर रखनी चाहिए। 

अनृतात् पारदार्याच्च तथाभक्ष्यस्य भक्षणात्।
अगोत्रधर्माचरणात् क्षिप्रं नश्यति वै कुलम्।।


विदुर के अनुसार कुछ लोग घर के नियमों अौर परंपराअों को नहीं मानते अर्थात उनका पालन नहीं करते। जो लोग ऐसा करते हैं, अंत में वही परिवार के विनाश का कारण बनते हैं। 

जीवों की हत्या करना या उनका सेवन करना पाप माना जाता है। जो लोग ऐसा करते हैं भगवान उन से अप्रसन्न रहते हैं। ऐसे लोग जितनी भी पूजा-अर्चना कर ले उसका फल उन्हें नहीं मिलता। ऐसी आदत परिवार का विनाश कर सकती है। 

झूठ बोलना पाप है। झूठ बोलने वाले इंसान पर कोई भी विश्वास नहीं कर पाता। कई बार झूठ ही व्यक्ति की बर्बादी का कारण बनता है। झूठ बोलने से आपको अौर आपके परिवार को परेशानियों का सामना करना पड़ता है। 

जो लोग पराई स्त्री से संबंध बनाता या इसके बारे में सोचता है, उसे राक्षस प्रवृति का माना जाता है। इस पाप से न सिर्फ व्यक्ति अपितु परिवार का भी नाश हो जाता है। ऐसा करने से बचना चाहिए। 



यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!