श्री सिद्ध बाबा सोढल मेला संपन्न

Wednesday, September 6, 2017 11:19 AM
श्री सिद्ध बाबा सोढल मेला संपन्न

श्री सिद्ध बाबा सोढल सुधार सभा, चड्ढा बिरादरी व बाबा सोढल ट्रस्ट द्वारा बाबा के मेले के तहत धार्मिक, सामाजिक एवं सम्मान समारोह करवाया गया। कार्यक्रम का आरम्भ देव पूजनोपरांत यज्ञ से हुआ। पूजनानुष्ठान मुख्य यजमान साधु सिंह धर्मसोत (कैबिनेट मंत्री पंजाब) ने करवाया। पूर्व सांसद कमल चौधरी ने विशेष तौर पर अपनी हाजिरी लगवाई। समूह आयोजकों के अलावा और भी अनेक भक्तों ने यज्ञाहूतियां डालने का लाभ लिया। यज्ञोपरांत विभिन्न प्रकार के फलों का लंगर लगाया गया व आयोजकों द्वारा 1100 नारियल बाबा जी के भक्तों में बांटे गए। धर्म, समाज व देशहित में अच्छा दायित्व निभाने वाले 500 के करीब विशिष्ट अतिथियों का सम्मान मंच संचालक सतनाम बिट्टा ने सभी का स्वागत किया और संस्था के लक्ष्य व उसको पूरा करने में श्री विजय चोपड़ा द्वारा दिए जा रहे सहयोग के बारे में जानकारी दी।


श्री रामनवमी उत्सव कमेटी के महासचिव अवनीश अरोड़ा ने कहा कि पंजाब की धरती, जो पीरों-पैगम्बरों की जन्म स्थली मानी जाती है, पर समय-समय पर अनेक धार्मिक एवं सामाजिक मेले लगते हैं जिनमें सभी धर्मों के लोग जातपात, ऊंच-नीच भेदभाव से ऊपर उठकर शामिल होते हैं। पूर्व मंत्री पंजाब अवतार हैनरी ने कहा कि अगर पंजाब केसरी परिवार आतंकवाद की आंधी में अडिग होकर अपना कार्य न करता तो ऐसे मेले कभी भी न लग पाते। इस परिवार से लाला जगत नारायण व रमेश चन्द्र जी की शहादतों को कभी भुलाया नहीं जा सकता। 


इस दौरान सभा द्वारा सजाए गए मंच पर कलाकारों ने धार्मिक भजनों पर आधारित  नृत्य पेश कर वातावरण को मंगलमय बना डाला। मुख्य रूप से पधारे सांसद संतोख चौधरी ने कहा कि परमात्मा का नाम ही सबसे बड़ी दौलत है। यह दौलत हमें हमेशा धार्मिक स्थानों से ही मिलती है। उन्होंने कहा कि आध्यात्मिक क्षेत्र में पंजाब केसरी परिवार द्वारा दिया जा रहा सहयोग अविस्मरणीय है। 


पूर्व सांसद कमल चौधरी ने कहा कि अगर हर इंसान अपने आप को सुधारे तो समझो दुनिया सुधर गई, लेकिन आज दुनिया में हर इंसान दूसरे को सुधारने का ही प्रयास करता है  जबकि वह अपने को सुधारने के बारे में नहीं सोचता। 


श्री सिद्ध बाबा सोढल मेला संपन्न
श्री सिद्ध बाबा सोढल का ऐतिहासिक मेला श्रद्धापूर्वक सम्पन्न हो गया। इस दौरान विभिन्न धार्मिक, सामाजिक संस्थाओं द्वारा देश-विदेश से पधारने वाले भक्तों के स्वागत/ सम्मान में जगह-जगह धार्मिक मंच सजाए गए व लंगर लगाए गए। माई हीरां गेट, टांडा अड्डा, अड्डा होशियारपुर, किशनपुरा, सोढल रोड, देवी तालाब रोड, इंडस्ट्रीयल एरिया, दोआबा चौक के अतिरिक्त मेला क्षेत्र में पड़ते अनेक स्थानों पर सैंकड़ों संस्थाओं द्वारा छबीलें, नान, कुल्चे आदि अनेक प्रकार के लंगर श्रद्धापूर्वक लगाए गए। जगह-जगह पर सजाए गए धार्मिक और स्वागती मंचों पर गण्यमान्यों का स्वागत/सम्मान भी किया गया।


इसी तरह सैंकड़ों दुकानें भी सजाई गई जहां पर भक्तों ने खुलकर खरीदारी की। मंदिर के चारों ओर सड़कों-गलियों में देश-विदेश से पधारी संगत की भीड़ देखने को मिली। इस दौरान भारी संख्या में लोगों ने बाबा जी के दर्शन किए। 


मनोरंजन के साधनों का लोगों ने उठाया लुत्फ
इस दौरान जगह-जगह पर अनेक प्रकार के झूले सजाए गए। इनके अलावा और भी अनेक मनोरंजन के साधनों का लोगों ने खूब लुत्फ उठाया।


पुलिस प्रशासन ने बड़ी सतर्कता से निभाई जिम्मेदारी
भारी संख्या में पधारे बाबा जी के भक्तों को किसी भी प्रकार की कोई परेशानी न आए उसके लिए चारों ओर पुलिस प्रशासन की कड़ी निगरानी थी। भक्तों ने शांतिपूर्वक श्री सिद्ध बाबा सोढल के दर्शन किए व बिना किसी भय से पूरे मेले का आनंद उठाया।




विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !