ए.सी. की हवा में रहने वाले हो जाएं सावधान, कहीं शनि हो न जाएं नाराज

Friday, June 9, 2017 7:00 AM
ए.सी. की हवा में रहने वाले हो जाएं सावधान, कहीं शनि हो न जाएं नाराज

आजकल गर्मी का कहर जोरों पर है, सूर्य देव तो मानो धरती वासियों से नाराज होकर जमकर अपना कहर बरसा रहे हैं। उनके इन तीखे तेवरों से बचने के लिए ए.सी. की शरण लेनी पड़ती है, जिससे राहत का अनुभव होता है। अब कुछ गिने-चुने स्थानों को छोड़कर हर स्थान पर ए.सी मौजूद होता है। जिस तरह जीवनयापन करने के लिए रोटी, कपड़ा और मकान अवश्यक होते हैं, उसके साथ-साथ अब ए.सी. के बिना रहना भी संभव नहीं है। वह भी जरूरत का अहम हिस्सा बन गया है। क्या आप जानते हैं ए.सी. के प्रति लगाव रखने वालों पर शनि का कहर भी बरस सकता है।  
  

ज्योतिषशास्त्र पर आधारित बृहत जातक ग्रंथ में बताया गया है शनि श्रम के कारक ग्रह हैं। जो लोग मेहनत-मजदूरी करके अपना और अपने परिवार का पेट पालते हैं, वह सदा उन पर मेहरबान रहते हैं। शनि के किसी भी तरह के अशुभ प्रभाव को दूर करने के लिए विद्वान मेहनत करने वाले मजदूरों को जूते, छाता, काला कपड़ा आदि दान करने की सलाह देते हैं। ऐसा करने से शनि प्रसन्न होते हैं और अपनी कृपा बनाए रखते हैं।


कुछ ऐसे कर्म भी हैं, जिन्हें करने वाले पर शनि अपनी क्रूर दृष्टि डाल देते हैं। उन्हीं में से एक कर्म उनके लिए है जो लोग कोई शारीरिक श्रम नहीं करते, सारा दिन ए.सी. में बैठे रहते हैं। उनका पसीना नहीं बहता, इससे शनि नाराज हो सकते हैं। कभी भी किसी गरीब को न सताएं और न उसका हक मारे। जो लोग ऐसा करते हैं वह जितने भी उपाय कर लें, शनि को कभी खुश नहीं कर पाएंगे।


शरीर से जब पसीना निकलता है तो शारीरिक गंदगी बाहर निकलती है और स्वास्थ्य दरूस्त रहता है। शनिवार के दिन शरीर पर तेल जरूर लगाएं। शरीर के रोमछिद्र तो खुलेंगे ही, साथ में शनि कृपा भी प्राप्त होगी।
 



यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!