ग्रहों की चाल ने बचपन में ही किया मशहूर, अब किस्मत के सितारे कहां ले जाएंगे

Tuesday, August 1, 2017 8:42 AM
ग्रहों की चाल ने बचपन में ही किया मशहूर, अब किस्मत के सितारे कहां ले जाएंगे

‘हैरी पार्टर’ की सभी 8 फिल्मों में 2001 से 2011 तक अभिनय करने वाली ब्रिटिश अभिनेत्री एमा वाटसन का जन्म 15 अप्रैल 1990 को फ्रांस के पैरिस शहर में हुआ था। वाटसन का जन्म कन्या लगन में हुआ तथा चंद्रमा उस समय धनु राशि में था। कुंडली के अंदर मौजूद गज केसरी योग के कारण ही एमा वाटसन बचपन में ही मशहूर हो गई। ज्योतिषी संजय चौधरी के अनुसार वाटसन की कुंडली के छठे घर में शुक्र तथा मंगल विराजमान हैं, जो उनके व्यक्तित्व को आकर्षक बनाते हैं। उन्होंने कहा कि जन्म के समय उन्हें केतु महादशा चल रही थी, जोकि 11वें घर में विराजमान है तथा उस पर शनि की दृष्टि है, जिससे पता चलता है कि बचपन में ही एमा वाटसन को अपने 
माता-पिता से अलग होना पड़ा तथा वह फ्रांस से इंगलैंड में आ गई। 


उन्होंने कहा कि 1996 में एमा को आमत्य कारक ग्रह शुक्र महादशा शुरू हुई, जोकि वाटसन की कुंडली में वर्गोत्तम अवस्था में बैठा हुआ है। इसलिए अभिनेत्री के मन में शुरू से ही अभिनय क्षेत्र में आने की तमन्ना थी। उन्होंने एक्टिंग, गायन, तथा डांसिंग क्षेत्र में अध्ययन किया ताकि वह सफल अभिनेत्री बन सके। शुक्र महादशा 20 वर्षों की है तथा एमा वाटसन के जीवन में यह उचित समय पर चालू हो गई है। 2001 में एमा को  ‘हैरी पार्टर’ एंड द फिलास्पर स्टोन में जबरदस्त मौका मिला। उनके अभिनय से प्रभावित होते हुए एमा वाटसन को पांच पुरस्कारों के लिए मनोनीत किया गया तथा उन्होंने युवा अभिनेत्री के क्षेत्र में यंग आर्टिस्ट अवार्ड भी जीता। 2009 से 2012 के बीच में एमा को शुक्र महादशा में शनि की अन्तर्दशा रही, जिसमें उन्होंने एम.टी.वी. मूवी अवार्ड सहित कई पुरस्कार जीते। 


उन्होंने बताया कि एमा वाटसन को सूर्य महादशा फरवरी 2016 से शुरू हो चुकी है, जोकि 12वें घर का स्वामी होकर 6वें घर में मित्र बुध के साथ बैठा हुआ है। आम तौर पर देखा गया है कि 12वें घर की महादशा के समय व्यक्ति रिटारमैंट ले लेते हैं। 


इसीलिए वाटसन ने भी फरवरी 2016 से अभिनय क्षेत्र से एक वर्ष दूर रहने का ऐलान कर दिया। इस समय उन्हें अप्रैल 2017 से सूर्य महादशा में राहु की अन्तर्दशा शुरू हुई है। राहु 5वें घर में बैठा हुआ है तथा उसके साथ शनि भी विराजमान हैं, जो भारी मौद्रिक लाभ को दर्शाते हैं। वाटसन को मार्च 2018 से सूर्य महादशा में गुरु की अन्तर्दशा शुरू होगी तथा उस समय वह महिलाओं के अधिकारों के प्रति ज्यादा जागरूक होंगी तथा साथ ही अपने भाई को कैरियर बनाने में सहयोग करेंगी। सूर्य महादशा में शनि की अन्तर्दशा जनवरी 2019 से शुरू होगी, जिससे उनके व्यक्तिगत जीवन में महत्वपूर्ण परिवर्तन देखने को मिलेंगे, क्योंकि शनि उनकी कुंडली में दाराकारक ग्रह है। उनका विवाह भी 2019 में होने के आसार हैं। 




विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !