सूर्य-शनि के गठबन्धन से जनता में बढ़ेगा तनाव, अगला चुनाव रहेगा मोदी के नाम

Thursday, December 28, 2017 9:30 AM
सूर्य-शनि के गठबन्धन से जनता में बढ़ेगा तनाव, अगला चुनाव रहेगा मोदी के नाम

2018 में नव संवत् 2075 के अनुसार राजा सूर्य तथा मंत्री शनि होंगे जो एक-दूसरे के परस्पर शत्रु ग्रह हैं। इस गठबन्धन से जनता में तनाव बढ़ेगा परंतु न्यायपालिका सशक्त रहेगी। ऐतिहासिक और अप्रत्याशित फैसलों के लिए देश को तैयार रहना होगा। देश में उपद्रव, हिंसा, सांप्रदायिक झगड़े बढ़ेंगे। सीमा पर एक बार फिर सर्जिकल स्ट्राइक टाइप का आप्रेशन होगा। मई के बाद किसी प्रिय नेता तथा अभिनेता का दुख सहना पड़ सकता है। चीनी सामान का बहिष्कार और तेजी से होगा तथा भारत वेैश्विक व्यापार में आगे बढ़ेगा। किसान आंदोलन जोर पकड़ेगा। अलग राज्य बनाने की मांगें एक बार फिर जोर-शोर से उठेंगी।

PunjabKesari
कांग्रेस कुछ मजबूत होगी। भाजपा कुछ राज्यों में कमजोर पड़ेगी और कहीं इसे गठबंधन का सहारा लेना पड़ सकता है। मोदी जी और सशक्त होंगे तथा कर प्र्रणाली में और परिवर्तन करेंगे। वह 10 साल तक प्रधानमंत्री रहेंगे। अगला चुनाव उन्हीं के नाम रहेगा। यह बात नास्त्रेदमस की भविष्यवाणी से भी मेल खाती है। 2018 में उत्तरी भारत विशेषत: उत्तराखंड में कई बार भूकंप आने के योग बन रहे हैं अत: आपदा प्रबंधन को अधिक मजबूत बनाना आवश्यक है।


शनि देव की शांति के उपाय: 
पीपल के पेड़ पर चाशनी चढ़ाएं। 

 

शनि देव की मूर्ति को पंचामृत से स्नान कराएं।

 

शनि मंदिर में काले तिल, काले कपड़े और तेल का दान करें।

 

किसी बूढ़े व्यक्ति को काला छाता दान करें।

 

किसी मेहनतकश मजदूर को चमड़े के काले जूते दान करें।

 

पितृ दोष से मुक्ति के लिए इस मंत्र से काले रंग के शिवलिंग पर सरसों का तेल चढ़ाएं।

 

शनैश्चर नमस्तुभ्यं नमस्ते त्वथ राहवे। केतवेअथ नमस्तुभ्यं सर्वशांतिप्रदो भव॥ 

 

शनिवार के शनिवार बहते पानी में नारियल बहाएं।

 

शनिवार के दिन स्टील के बर्तन दान करें।

 



अपना सही जीवनसंगी चुनिए | केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन