विचारों को लेकर मतभेद हो तो अपनाएं ये तरकीब, पल में होगी हर समस्या दूर

Wednesday, April 19, 2017 2:44 PM
विचारों को लेकर मतभेद हो तो अपनाएं ये तरकीब, पल में होगी हर समस्या दूर

मास्टर जी क्लास में पढ़ा रहे थे, तभी पीछे से दो बच्चों के आपस में झगड़ा करने की आवाज आने लगी। ‘‘क्या हुआ तुम लोग इस तरह झगड़ क्यों रहे हो?’’ मास्टर ने पूछा।


राहुल, ‘‘सर, अमित अपनी बात को लेकर अड़ा है और मेरी सुनने को तैयार ही नहीं है।’’


अमित, ‘‘नहीं सर, राहुल जो कह रहा है, वह बिल्कुल गलत है इसलिए उसकी बात सुनने से कोई फायदा नहीं’’ और ऐसा कहकर वे फिर तू-तू मैं-मैं करने लगे।


मास्टर जी ने उन्हें बीच में रोकते हुए कहा, ‘‘एक मिनट तुम दोनों यहां मेरे पास आ जाओ। राहुल तुम डैस्क की बाएं और अमित तुम दाएं तरफ खड़े हो जाओ।’’ 

इसके बाद मास्टर जी ने अलमारी से एक बड़ी-सी गेंद निकाली और डैस्क के बीचों-बीच रख दी। मास्टर जी, ‘‘राहुल तुम बताओ, ये गेंद किस रंग की है।’’


राहुल, ‘‘जी, ये सफेद रंग की है।’’


मास्टर जी, ‘‘अमित तुम बताओ, ये गेंद किस रंग की है?’’


अमित, ‘‘जी, यह बिल्कुल सफेद है।’’


राहुल, ‘‘जी, यह बिल्कुल सफेद है।’’


दोनों ही अपने जवाब को लेकर पूरी तरह आश्वत थे कि उनका जवाब सही है और एक बार फिर वे गेंद के रंग को लेकर एक-दूसरे से बहस करने लगे।  मास्टर जी ने उन्हें शांति कराते हुए कहा, ‘‘ठहरो, अब तुम दोनों अपने-अपने स्थान बदल लो और फिर बताओ कि गेंद किस रंग की है?’’


दोनों ने ऐसा ही किया पर इस बार उनके जवाब भी बदल चुके थे। राहुल ने गेंद का रंग काला तो अमित ने सफेद बताया। अब मास्टर जी गंभीर होते हुए बोले, ‘‘बच्चो, ये गेंद दो रंगों से बनी है और जिस तरह यह एक जगह से देखने पर काली और दूसरी जगह से देखने पर सफेद दिखती है, उसी प्रकार हमारे जीवन में भी हर एक चीज को अलग-अलग दृष्टिकोण से देखा जा सकता है। कभी हमारे बीच विचारों को लेकर मतभेद हो तो ये न सोचें कि सामने वाला बिल्कुल गलत है बल्कि चीजों को उसके नजरिए से देखने और उसे अपना नजरिया समझाने का प्रयास करें। तभी आप एक अर्थपूर्ण संवाद कर सकते हैं।’’ 




विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !