विदेशों में भी पूजे जाते हैं हनुमान

Friday, June 9, 2017 1:01 PM
विदेशों में भी पूजे जाते हैं हनुमान

विश्व के अनेक देशों में रामलला के साथ हनुमान जी की भी पूजा की जाती है। उपलब्ध जानकारी के अनुसार विश्व के अनेक देशों जैसे थाईलैंड, बर्मा, कंबोडिया, लाओस, मलेशिया तथा इंडोनेशिया में वहां के लोग हनुमानजी की विधिवत पूजा करते हैं। वे लोग हनुमानजी को श्रीराम का संदेशवाहक यानी दूत कह कर पुकारते हैं। थाईलैंड, कंबोडिया, लाओस तथा इंडोनेशिया में रामलीला एवं हनुमत चरित्र को नृत्य एवं नाटक के रूप में प्रस्तुत किया जाता है। वहां भी हनुमानजी के वानर रूप को ओजस्वी तथा तेजस्वी सैनिक के रूप में दर्शाया जाता है।


भारत के हनुमान मंदिरों की तरह मॉरीशस में भी हनुमान मंदिर बनाए गए हैं, लेकिन यहां की खास बात यह है कि यहां के हर हिंदू के घर पर हनुमानजी के चित्र वाली पताका फहराती रहती है। कंबोडिया के अंगकोर, इंडोनेशिया के प्राभांजन तथा थाईलैंड के शाही बौद्ध मंदिर की दीवारों पर हनुमानजी के चित्र बनाए गए हैं। विश्व के अनेक देशों में व्यापार कर रहे भारतीय अपनी कालोनियों में प्रत्येक शनिवार को हनुमान चालीसा का पाठ करते हैं। अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति ओबामा को भी हनुमान जी का भक्त कहा गया। वह भी अपनी जेब में हनुमान जी की फोटो रखने पर चर्चा में आए। 


डरबन के चैट्सवर्थ क्षेत्र में भगवान विष्णु का मंदिर है। उसी मंदिर के परिसर में हनुमान जी की औसतन 15 फीट ऊंची प्रतिमा स्थापित है। जोकि बहुत ही खूबसूरत है। इस प्रतिमा को दिसंबर 2010 में स्थापित किया गया था। दक्षिण अफ्रीका में भारतवासियों के रहते जब 150 वर्ष का जश्न मनाया गया उस समय इस प्रतिमा का निर्माम करवाया गया।
 




विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !