आज खास पूजन और उपाय से पाएं असंभव को भी संभव करने की शक्ति

Friday, February 24, 2017 11:40 AM
आज खास पूजन और उपाय से पाएं असंभव को भी संभव करने की शक्ति

आज भगवान श्रीगणेश की पुत्री देवी संतोषी का प्रिय वार शुक्रवार है और साथ में आया बाबा का त्यौहार महाशिवरात्रि। कालों के काल महाकाल और सुख संतोष की दात्री मां संतोषी का आज के दिन विशिष्ट पूजन करने से प्रसन्न्ता, सुख-शान्ति और मनोकामनाओं की पूर्ति की जा सकती है। यहां तक की असंभव को भी संभव करने की शक्ति प्राप्त की जा सकती है।


विशिष्ट पूजन और उपाय: दैनिक कृत से निवृत होकर धुले हुए साफ़ कपडे पहने। इस दिन खट्टी वस्तु न खाएं और न ही स्पर्श करें। पूजा व घर में खट्टे फलों को भी इस्तेमाल न करें। दही, इमली टमाटर अमचूर, आम इत्यादि जैसी खाद्य वस्तुएं इस उपाय में खाना वर्जित हैं। घर की उत्तर दिशा को साफ करके वहां क्रीम अथवा बादामी रंग का कोरा कपड़ा बिछाकर पारद शिवलिंग और देवी संतोषी का चित्र स्थापित करें। पूजा हेतु उत्तर मुखी होकर बैठें। एक कलश जल भर कर रखें। कलश के ऊपर एक कटोरी में गुड़,सिक्के और चने रखें। शुद्ध घी में इत्र मिलाकर दीपक जलाएं। सुगन्धित अगरबत्ती जलाएं। चावल, फूल, नारियल, मौली और आलता अर्पित करें। घी में केसर मिलाकर पारद शिवलिंग पर चढ़ाएं। चावल की खीर का भोग लगाएं। हल्दी से पीले किए हुए 16 चावल के दाने बाएं हाथ में लेकर मुट्ठी बंद करें तथा दाएं हाथ से चंदन अथवा स्फटिक की माला इस मंत्र का यथा संभव जाप करें।


मंत्र: ॐ संतोषप्रदाय प्रौढापस्मृति संहर्त्रे द्रीं नमः शिवाय।।


जाप पश्चात्त हाथ में लिए हुए अक्षत लाल कपड़े में बांधकर घर की उत्तर दिशा में छुपा कर रख दें। कलश पर रखा हुआ गुड़ चना गौ माता को खिलाएं। कलश के जल का पूरे घर में छिड़काव करें। इस पूजन और उपाय से शीघ्र विवाह की कामना, व्यवसाय व शिक्षा के क्षेत्र में कामयाबी और मनोवांछित फलों की प्राप्ति होती है।


 



विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !