इन बातों पर अमल न करने से हो जाएगा आपके धन का नाश

Thursday, January 11, 2018 5:26 PM
इन बातों पर अमल न करने से हो जाएगा आपके धन का नाश

राजा विक्रमादित्य के भाई भर्तृहरि के अनुसार धन की तीन गतियां हैं। उनके मुताबिक धन इन तीन गतियों के अधीन होता है। जो मनुष्य अपने धन के ऊपर पहली दो गतियां नहीं लागू करता उसका धन तीसरी गति में आकर नष्ट हो जाता है। तो आईए जानें वो गतियां जिस पर अमल न करने पर व्यक्ति का धन नष्ट हो जा सकता है। 


दानं भोगो नाशस्तिस्त्रो गतयो भवन्ति वित्तस्य।
यो न ददाति न भुक्ते तस्य तृतीया गतिर्भवति।।


दान
हर मनुष्य को अपनी श्रद्धा के अनुसार कुछ न कुछ दान अवश्य करना चाहिए। शास्त्रों में भी दान को लेकर कई महत्व बताए गए हैं। दान उसे ही देना चाहिए, जिसे उसकी आवश्यकता हो। धन-धान्य से संपन्न मनुष्य या दुराचारी मनुष्य को दिया गया दान व्यर्थ माना जाता है। जो मनुष्य समर्थ होने के बावजूद भी दान नहीं करता, आज नहीं को कल उसका धन जरूर नष्ट हो जाता है।

 

भोग
हर किसी को अपने धन का कुछ हिस्सा दान करने के साथ ही उसका भोग भी करना चाहिए। कई लोग कंजूस प्रवृत्ति के होते हैं, जो धन-धान्य से समर्थ होने पर भी कंजूसी के कारण उसका भोग नहीं करते। जो लोग धन का भोग कर सुखी जीवन जीने की जगह उसे छुपा कर रखते हैं, उनका धन भी बहुत ही जल्दी नष्ट हो जाता है।

 

नाश
जो लोग धन होने पर भी उसका दान और भोग नहीं करते, अंत में उनका धन नष्ट हो जाता है। ऐसे लोगों आगे चलकर जीवन में कई परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है, इसलिए हमेशा ध्यान रखना चाहिए सुखी जीवन जीने के लिए और देवी लक्ष्मी की कृपा हमेशा आपने ऊपर बनाए रखने के लिए धन को छुपाना चाहिए चाहिए बल्कि उसका दान और भोग करना चाहिए।



अपना सही जीवनसंगी चुनिए | केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन