मंगलवार व शनिवार को करें ये उपाय, शनिदेव के साथ हनुमान जी भी होंगे प्रसन्न

Tuesday, May 23, 2017 3:56 PM
मंगलवार व शनिवार को करें ये उपाय, शनिदेव के साथ हनुमान जी भी होंगे प्रसन्न

हनुमान जी को संकटमोचन अौर शनिदेव को सजा देने वाला माना जाता है। शिव पुराण के अनुसार हनुमान जी को ग्यारवां रूद्र माना जाता है और शनिदेव भगवान शंकर के परम भक्त और चेले भी हैं। जब शनिदेव किसी पर क्रोधित हो जाते हैं तो उन्हें कई परेशानियों का सामना करना पड़ता है। मंगलवार अौर शनिवार दोनों ही दिन हनुमानजी अौर शनिदेव के उपाय करके इनकी कृपा पाई जा सकती है। इन उपायों को करने से हनुमान जी कृपा से साढ़ेसती अौर शनि दोषों से मुक्ति मिलती है।  

शनिवार व मंगलवार के दिन ब्रह्म मुहुर्त में उठकर स्नानादि कार्यों से निवृत्त होकर नवग्रह मंदिर में हनुमान जी अौर शनिदेव पर जल अर्पित करके विशेष सामग्रियों से पूजन करें। यह पूजा शाम के समय भी कर सकते हैं। 

पूजा करते समय शनिदेव को गंध, चावल, फूल, तेल, तिल, काले वस्त्र आदि और हनुमान जी को सिंदूर, लाल चंदन, फूल, चावल व लाल वस्त्र अर्पित करें। 

शनिवार के दिन शनिदेव को तिल अौर रामभक्त हनुमान को गुड़ से बने व्यंजन का भोग लगाएं। ऐसा करने से वे शीघ्र प्रसन्न होते हैं। इसके साथ ही उनकी कृपा भक्त पर सदैव बनी रहती है। 

हनुमान जी पर चमेली का तेल अर्पित करें। इससे साढ़ेसती से मुक्ति मिलेगी। 

बरगद से आठ पत्ते लेकर काले धागे में पिरोकर हनुमान जी को अर्पित करने पर शनि बाधा से मुक्ति मिलेगी। हनुमान जा को कागजी बादाम अर्पित करें। उसके बाद आधे बादाम काले कपड़े में बांधकर घर की दक्षिण दिशा में छुपा कर रखने से शनिदेव का कोप शांत हो जाता है। 



यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!