जीवन में नहीं मिल रही सफलता तो शनिवार को करें ये उपाय, साढ़ेसाती से मिलेगी मुक्ति

Friday, May 26, 2017 3:28 PM
जीवन में नहीं मिल रही सफलता तो शनिवार को करें ये उपाय, साढ़ेसाती से मिलेगी मुक्ति

शनिवार के दिन शनिदेव की पूजा का विधान है। जिस व्यक्ति पर शनिदेव की कृपा होती है उसे जीवन के हर क्षेत्र में सफलता मिलती है। इसके विपरीत जिस व्यक्ति की कुंडली में साढ़ेसाती या ढय्या होती है उसे कई परेशानियों का सामना करना पड़ता है। कार्यों में असफलता, रोग, धन की हानि आदि परेशानियां उसे घेरे रखती है। शनिवार के दिन कुछ सरल उपाय करने से शनिदेव प्रसन्न होते हैं अौर साढ़ेसाती से मुक्ति मिलती है। 

हर शनिवार सुबह शीघ्र उठकर स्नानादि कार्यों से निवृत्त होकर एक कटोरी में तेल लेकर अपना चेहरा देखें। उसके बाद उस तेल को किसी जरुरतमंद व्यक्ति को दान कर दें। ऐसा करने से शनिदेव प्रसन्न होते हैं अौर साढ़ेसाती से मुक्ति मिलती है। 

शनिवार के दिन काले घोड़े की नाल का छल्ला या नाव के कील की अंगूठी मध्यमा उंगली में धारण करने से साढ़ेसाती से राहत मिलती है।

हर मंगलवार अौर शनिवार हनुमान चालीसा का पाठ करें। इसके साथ ही हनुमान जी को सिंदूर अौर चमेली का तेल अर्पित करें। ऐसा करने से साढ़ेसाती से मुक्ति मिलती है अौर शनिदेव व हनुमान जी की कृपा बनी रहती है। 

दान करने से पुण्य की प्राप्ति होती है। शनिवार के दिन काले तिल, काला कपड़ा, कंबल, लोहे के बर्तन का दान करें। इससे शनिदेव प्रसन्न होते हैं अौर व्यक्ति पर कृपा बनी रहती है। 

हर शनिवार को पीपल के वृक्ष का पूजन करें। पीपल के वृक्ष पर जल अर्पित करके सात बार परिक्रमा करें। 

हर शनिवार को पूजा करते समय शनिदेव को नीले रंग के फूल अर्पित करें। इसके साथ ही शनि मंत्र ऊँ शं शनैश्चराय नमः का रुद्राक्ष की माला में 108 बार जाप करें। ऐसा करने से साढ़ेसाती और ढय्या से मुक्ति मिलती है।



विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !