Saturday को न शुरु करें ये काम, शनिदेव हो जाएंगे नाराज

Friday, February 17, 2017 8:46 AM
Saturday को न शुरु करें ये काम, शनिदेव हो जाएंगे नाराज

शास्त्रनुसार शनि को पापी ग्रह माना गया है। शनि को मारक, अशुभ व दुख का कारक माना जाता है। शास्त्र उत्तर कालामृत के अनुसार शनि कमजोर स्वास्थ्य, बाधाएं, रोग, मृत्यु, दीर्घायु, नपुंसकता, वृद्धावस्था, काला रंग, क्रोध, विकलांगता व संघर्ष का कारक ग्रह माना गया है। वास्तविकता में शनि ग्रह न्यायाधीश है जो प्रकृति में संतुलन पैदा करता है व हर प्राणी के साथ न्याय करता है। जो लोग अनुचित विषमता व अस्वाभाविकता और अन्याय को आश्रय देते हैं, शनि केवल उन्हीं को प्रताड़ित करता है। शन‌िवार पर शनि का स्वामित्व स्थापित है। इस दिन कोई भी कारोबार करने से पहले विचार कर लें, कुछ ऐसे काम हैं जिन पर शनि का अाधिपत्य स्थापित है। अगर शनिवार को वो काम शुरू किए जाएं तो कारोबार में बाधा और कठ‌िनाइयां आती हैं। 


शनिवार को न शुरु करें ये काम, शनिदेव हो जाएंगे नाराज


वाहन से संबंधित किसी भी कारोबार पर शनि का अधिपत्य स्थापित है। शनिवार के दिन इससे संबंधित कोई भी बिजनैस आरंभ न करें अन्यथा भारी नुकसान उठाना पड़ सकता है।


शनिवार को हार्डवेयर के काम में धन लगाना अथवा उसको खरीद कर घर-दुकान में लेकर आना। दोनों स्थितियों में हानि का सामना करना पड़ता है। 


शन‌िवार के द‌िन वैल्ड‌िंग का काम आरंभ करने का मतलब है, बार बार चुनौत‌ियों का सामना करना। 


मशीनरी, टूर एण्ड ट्रैवल्स, ऑटो या टैक्सी डालने या किराए पर देने का काम शनिवार आरंभ न करें, आर्थिक हानि का सामना करना पड़ता है। 


तेल से संबंध‌ित किसी भी कार्य को शुरू न करें, अशुभ होता है।




विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !