भगवान श्रीराम से बड़ी थी उनकी बहन, देवभूमि में पति संग होती है पूजा

Monday, May 8, 2017 11:32 AM
भगवान श्रीराम से बड़ी थी उनकी बहन, देवभूमि में पति संग होती है पूजा

भगवान श्रीराम अौर उनके भाईयों के अतिरिक्त भी उनकी एक बहन थी। जो उनसे भी बड़ी थी। कुल्लू में स्थित शृंग ऋषि मंदिर में श्रीराम की बड़ी बहन शांता की पूजा होती है। यह मंदिर कुल्लू से 50 कि.मी. दूर स्थित है। यहां देवी शांता की प्रतिमा उनके पति शृंग ऋषि के साथ है। इस मंदिर में दोनों की पूजा हेतु दूर-दूर से भक्त आते हैं। 
PunjabKesari
पौराणिक कथा के अनुसार शृंग ऋषि ऋष्यशृंग विभण्डक के पुत्र थे। बाद में ऋष्यशृंग ने ही दशरथ की पुत्र कामना के लिए पुत्र कामेष्टि यज्ञ करवाया था। जिस स्‍थान पर उन्होंने यज्ञ किया था, वह जगह अयोध्‍या से करीब 39 कि.मी. पूर्व में थी और वहां आज भी उनका आश्रम है। माना जाता है कि जब अंगदेश के राजा रोमपद अपनी पत्नी सहित अय़ोध्या आए तो राजा दसरथ को पता लगा कि उनकी कोई संतान नहीं है तो उन्होंने उन्हें राजा ने शांता को संतान स्वरूप दे दिया। 
PunjabKesari
देवी शांता के विवाह के विषय में कहा जाता है कि एक बार एक ब्राह्मण उनके द्वार पर आकर वर्षा के दिनों में खेती की जुताई में शासन की मदद के लिए प्रार्थना की। राजा रोमपद अपनी बेटी शांता से बातें करने में इतने व्यस्त थे कि वह ब्राह्मण की बात नहीं सुन पाए। ब्राह्मम निरास होकर वहां से चले गए। इंद्रदेव अपने भक्त की अनदेखी से क्रोधित होकर राजा रोमपद से नाराज हो गए। जिसके कारण उनके राज्य में वर्षा नहीं हुई अौर खेत सूख गए।
PunjabKesari
इस संकट से निकलने के लिए राजा रोमपद ने शृंग ऋषि से उपाय मांगा। ऋषि ने इंद्रदेव को प्रसन्न करने के लिए यज्ञ किया। जिसके बाद ऋषशृंग ऋषि से देवी शांता का विवाह कर दिया। 
 



विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !