चाणक्य नीति: किसी भी कार्य को करने से पहले करें ये काम अन्यथा होगा नुक्सान

Tuesday, May 23, 2017 1:51 PM
चाणक्य नीति: किसी भी कार्य को करने से पहले करें ये काम अन्यथा होगा नुक्सान

आचार्य चाणक्य भारतीय इतिहास के महान नामों में से एक है। आज भी पूरा विश्व उनके दिखाए मार्ग का अनुसरण करता है। आचार्य चाणक्य एक महान दार्शनिक, पुजारी और मौर्य साम्राज्य के राजनितिक मार्गदर्शक थे। उन्होंने मौर्य साम्राज्य की नींव रखने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। उनकी सीख जिसे विश्व चाणक्य नीति के नाम से भी जनता है। उस पर बताई बातों पर अमल करने से खुशहाल जीवन यापन किया जा सकता है। चाणक्य के अनुसार कोई भी कार्य करने से पहले उसके बारे में अच्ची तरह से सोच-विचार कर लेना चाहिए।

अनुपायपूर्व कार्य कृतमपि विनश्यति।

भावार्थ:
बिना उपाय के किए गए कार्य प्रयत्न करने पर भी बचाए नहीं जा सकते, नष्ट हो जाते हैं। राजा को सभी कार्य अच्छी प्रकार से सोच-समझ कर करने चाहिएं, अन्यथा उपाय करने के बाद भी उन्हें नष्ट होने से नहीं बचाया जा सकता।


 



विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !