जीवन की समस्याअों से बचने के लिए ध्यान रखें आचार्य चाणक्य की ये बातें

Sunday, April 16, 2017 4:29 PM
जीवन की समस्याअों से बचने के लिए ध्यान रखें आचार्य चाणक्य की ये बातें

चाणक्य महान विद्वानों की श्रेणी में सर्वश्रेष्ठ स्थान रखते हैं। उन्होंने मौर्य साम्राज्य की स्थापना करके अखण्ड भारत का निर्माण किया था। आचार्य चाणक्य एक बड़े दूरदर्शी विद्वान थे। चाणक्य की नीतियों में उत्तम जीवन का निर्वाह करने के बहुत से रहस्य समाहित हैं, जो आज भी उतने ही कारगर सिद्ध होते हैं। जितने कल थे। इन नीतियों को अपने जीवन में अपनाने से बहुत सारी समस्याओं से बचा जा सकता है और साथ ही, उज्जवल भविष्य का निर्माण किया जा सकता है।

चाणक्य के अनुसार अपना धन उसी को देना चाहिए जो योग्य हो, किसी अौर को न दें। जिस प्रकार बादलों के द्वारा लिया समुद्र का जल सदैव मीठा होता है। उसी प्रकार योग्य व्यक्ति को दिया धन सदैव बढ़ता है। 

सांप जहरीला न हो तो भी उसे स्वयं को जहरीला दिखाना पड़ता है। इसी प्रकार व्यक्ति को भी अपनी अयोग्यता दूसरों को नहीं बतानी चाहिए। 

डर इंसान को कमजोर बनाता है। चाणक्य के अनुसार जैसे ही डर आपके करीब आए उस पर आक्रमण करके उसे नष्ट करे दें। डर के कारण व्यक्ति आगे नहीं बढ़ पाएगा अौर लक्ष्य पीछे रह जाएगा। 

व्यक्ति अकेला पैदा होता है अौर अकेले ही मर जाता है। उसे अपने अच्छे बुरे कर्मों का फल स्वयं ही भुगतना पड़ता है। वह अकेले ही नर्क या स्वर्ग जाता है अर्थात हर व्यक्ति को अपने कर्मों का फल अवश्य मिलता है। 

फूल की खुशबू केवल हवा की दिशा में ही जाती है लेकिन एक अच्छे इंसान की अच्छाई हर जगह फैलती है।

शिक्षा ही एक ऐसी चीज है जिसे कोई चुरा नहीं सकता। शिक्षा सबसे अच्छी मित्र है। शिक्षित व्यक्ति हर जगह सम्मान पाता है। शिक्षा सौंदर्य अौर यौवन को महत्वहीन कर देती है। 

संतुलित दिमाग जैसी सादगी, संतोष जैसा सुख, लोभ की भांति बीमारी अौर दया की तरह कोई पुण्य नहीं है।




विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !