अनपढ़ बुढ़िया की एक बात ने बदली दिशा, दुनिया में कमाया नाम

Thursday, April 20, 2017 11:04 AM
अनपढ़ बुढ़िया की एक बात ने बदली दिशा, दुनिया में कमाया नाम

एक बार मशहूर खगोलशास्त्री अल ख्वारिज्मी गांव की सैर पर निकले। उस वक्त वह तारों को देख कर जीवन की गति बता दिया करते थे। तारों की गणना में उस वक्त उनका कोई मुकाबला नहीं था और चारों तरफ उनकी इस विद्या की चर्चा थी। रात में वह तारों से भरा आसमान देखते चले जा रहे थे कि पैरों के नीचे गहरा गड्ढा आया और वह उसमें गिर गए। रात में काफी देर तक वह उसी गड्ढे में पड़े-पड़े मदद के लिए चीखते रहे, पर दूर-दूर तक कोई सुनने वाला नहीं था।


काफी देर तक चीखने-चिल्लाने के बाद एक बुढिय़ा आई और उसने उन्हें नीचे गिरा देखा। वह अनपढ़ बुढिय़ा बहुत जद्दोजहद के बाद उन्हें निकाल पाई। बाहर निकलते ही अल ख्वारिज्मी ने बुढिय़ा को धन्यवाद दिया। बुढिय़ा मुस्कुराई और आगे बढ़ गई। तब उन्होंने उससे पूछा कि आपने हमें पहचाना नहीं। हम मशहूर ज्योतिषी भी हैं। तारों को देखकर आपकी जिंदगी के बारे में बता सकते हैं। आपने हमारी मदद की है इसलिए हम कृतज्ञतावश अपने इस हुनर से आपको आने वाला कल बता दें। तब बुढिय़ा ने पलट कर कहा, ‘‘जिसे जमीन के गड्ढों के बारे में न पता हो वह क्या खाक जानता है। पहले जहां चल रहे हो उसे जान लो, बाद में तारों को पढऩा।’’ बुढिय़ा की बात उनके दिल में लग गई क्योंकि यह सच था।


जब जमीन का नहीं पता तो आसमान को जानकर क्या करेंगे। वह लग गए पाताल की खोज में और दुनिया में सबसे ज्यादा नाम भूगर्भशास्त्री के रूप में कमाया। जिस दिन हम सच को जान लेते हैं उसी दिन दुनिया को आसान करने की गांठ खुलने लगती है। हम सबको अपने गर्व के बिना सीखने में लगना चाहिए। किसी भी इंसान की एक बात हमारी दिशा बदल सकती है अगर उसमें सच्चाई हो। जैसे उस बूढ़ी औरत ने अल ख्वारिज्मी की दिशा बदल दी। 



विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !