2018 Rashifal: ज्योतिष की गणना से जानें, कब होगी आप पर शुभ ग्रहों की नजर

Monday, January 1, 2018 10:38 AM
2018 Rashifal: ज्योतिष की गणना से जानें, कब होगी आप पर शुभ ग्रहों की नजर

आपके नाम का पहला अक्षर ब्रैकेट में जिस राशि के समक्ष दर्ज है, वह आपकी नाम राशि है। फिर उसी के अनुसार वर्ष 2018 का अपना वार्षिक भविष्यफल पढ़ें।


मेष (चु, चे, चो, ल, ली, लू, ले, लो, अ)
वर्ष के प्रारंभ से समय ठीक, तेज प्रभाव बना रहेगा। 17 जनवरी से 7  मार्च तक सेहत की संभाल रखनी जरूरी, धन-लाभ के लिए समय बेहतर बनेगा। फिर 25 मार्च तक समय खर्चों को बढ़ाने वाला, 14 अप्रैल से 14 मई तक मुश्किलें-समस्याएं कंट्रोल में रहेंगी, आपकी पैठ, धाक, छाप भी बढ़ी रहेगी, धन लाभ, 3 मई से सरकारी कामों को संवारनेवाला ग्रह आप पर आ जाएगा, अफसर मेहरबान-रहेंगे। फिर 17 मई से मित्रों, कामकाजी साथियों, सहयोगियों से सहयोग मिलेगा, 10 से 25 जून तक बड़े लोग  मित्र-सहयोगी आपकी बात को ज्यादा ध्यान से सुनेंगे। 1 अगस्त से 17 सितम्बर तक दुश्मनों को कदापि कमजोर न समझें, आपकी योजनाबंदी बेहतर रिजल्ट दे सकती है। फिर 17 सितम्बर से 5 अक्तूबर तक किसी प्रबल शत्रु के साथ टकराव का खतरा बढ़ सकता है, 17 अक्तूबर से 16 नवम्बर तक घरेलू मोर्चा पर तनातनी बढ़ सकती है। सरकारी कामों के लिए 3 मई से चल रहा सुदृढ़ सितारा 5 नवम्बर तक आप पर बना रहेगा। 16 नवम्बर से 15 दिसम्बर तक सेहत के बिगडऩे, पांव के फिसलने का डर रहेगा। 23 दिसम्बर से समय  उलझनों-मुश्किलों, खर्चों वाला बन जाएगा।


वृष (इ, उ, ए, ओ, व/ब, वी/बी, वू/बू, वे/बे, बो/वो)
आप में उत्साह, हिम्मत तथा भागदौड़ करने की क्षमता बनी रहेगी। अलबत्ता कामकाजी दशा संतोषजनक रहेगी। शनि के ढैया के कारण सेहत के बिगडऩे, पांव के फिसलने, दुश्मनों के उभरने का खतरा बना रहेगा।

13 जनवरी तक समय सेहत के लिए ढीला, 17 जनवरी से 7 मार्च तक पति-पत्नी संबंधों में तालमेल-सहयोग रहेगा, उद्देश्य-मनोरथ हल होंगे, कामयाबी तथा इज्जत-मान की प्राप्ति रहेगी, 2 से 25 मार्च तक का समय  आमदन वाला, यत्न करने पर कोई उलझा-रुका काम मैच्योर होगा, 26 मार्च से 14 मई तक समय खर्चों वाला, फिर 20 अप्रैल से कारोबारी दशा सुधेरगी, कामयाबी की राहें बेहतर बनेंगी, 3 मई से अक्तूबर के आखिर तक समय योजनाबंदी में पेचीदगियों को हटाने, कामयाबी कामों को निपटाने में कामयाबी देने वाला बनेगा, सेहत में सुधार होगा, बीच में 10 से 25 जून तक कारोबारी कामों में ज्यादा कामयाबियां मिलेंगी, फिर 1 अगस्त से 1 सितम्बर तक मन पर गलत सोच का प्रभाव बढ़ सकता है, 17 अगस्त से 17 सितम्बर तक जायदादी कामों के लिए आपकी भागदौड़ बेहतर रिटर्न देगी, 17 सितम्बर से आपकी किसी स्कीम के सिरे चढ़ जाने का स्कोप बढ़ जाएगा। फिर 12 अक्तूबर से पति-पत्नी रिश्तों में मधुरता, सौहार्द, सद्भाव बढ़ेगा, 16 नवम्बर से कामयाबी की राहें आसान बनेंगी, 15 दिसम्बर के उपरांत सेहत की संभाल रखें।


मिथुन (क, की, कु, घ, छ, के, को, ह)
केतू की स्थिति आपकी सेहत के लिए कमजोर  है, खान-पान के प्रति अटैंटिव रहें, आमदन तो होगी, तो भी खर्चों की अधिकता के कारण अर्थ तंगी महसूस होगी। संतान का रुख सहयोगी, मगर पति, पत्नी की सेहत के लिए ग्रह ढीला। 

वर्ष के प्रारंभ में कामकाजी दशा ठीकठाक, कामयाबी तथा इज्जत-मान की प्राप्ति, 17 जनवरी से 7 मार्च तक शत्रु आपके समक्ष टिक न पाएंगे, आपकी पैठ-बोलबाला बढ़ेगा, फिर 2 से 25 मार्च तक समय राजकीय कामों में आपके कदम को बढ़त की तरफ रखेगा, फिर 14 अप्रैल से 14 मई तक समय कारोबारी कामों के लिए बढिय़ा, बीच में 3 मई से सेहत के प्रति ज्यादा अटैंटिव रहें, न तो किसी की जमानत दें और न ही किसी पर ज्यादा भरोसा करें। फिर 10 से 25 जून तक मन पर साफ-सुथरी सोच प्रभावी रहेगी, 15 जून से स्वभाव में क्रोध  बढ़ेगा, 1 अगस्त से 2 सितम्बर तक जमीनी-अदालती कामों में अड़चन, अलबत्ता 17 अगस्त से 17 सितम्बर तक मित्रों से मेल-मिलाप, बड़े लोगों, सज्जन-साथियों से सहयोग मिलेगा संतान सपोर्टिव बनेगी, यत्न करने पर कोई स्कीम सिरे चढ़ेगी, 19 सितम्बर से 5 अक्तूबर तक समय जमीनी तथा अदालती कामों के लिए बेहतर, 17 अक्तूबर से 16 नवम्बर तक का समय संतान की तरफ से फिक्र परेशानी वाला, अपने मन तथा बुद्धि पर भी जब्त रखना जरूरी, 5 नवम्बर के बाद सेहत के लिए कमजोर चल रहा ग्रह हट जाएगा तथा आगे समय ठीक चलेगा।


कर्क (हि, हु, हे, हो, ड, डी, डू, डे, डो)
वर्ष के प्रारंभ से समय हिम्मत-यत्न शक्ति बनाए रखेगा, 17 जनवरी से 7 मार्च तक संतान के रुख में सहयोग, उनकी सकारात्मक अपरोच आपके कई कामों को संवारने में सहायक रहेगा, धार्मिक तथा सामाजिक कामों में ध्यान, यत्न करने पर योजनाबंदी कुछ आगे बढ़ेगी, फिर 26 मार्च से बाधाओं-मुश्किलों का जोर बढ़ेगा, 14 अप्रैल से 14 मई तक समय सरकारी कामों को संवारने वाला होगा, फिर 20 अप्रैल से 14 जून तक समय धन-लाभ वाला समझें, फिर 1 अगस्त से 1 सितम्बर तक घटिया तथा हल्की सोच व नेचर वाले लोगों से न तो ज्यादा सपंर्क रखें और न ही वास्ता वैसे 2 सितम्बर से अदालती, जमीनी कामों में कदम बढ़त की तरफ। 19 सितम्बर से 5 अक्तूबर के बीच में मित्रों, कामकाजी सहयोगियों से सहयोग-तालमेल तथा वे हरदम आपकी सहायता के लिए  तैयार दिखा करेंगे।  12 अक्तूबर से संतान के सपोर्टिव रुख पर भरोसा किया जा सकता है। 17 अक्तूबर से 16 नवम्बर तक बगैर तैयारी न तो कोर्ट-कचहरी में जाएं और न ही कोई जमीनी काम हाथ में लें, फिर 16 तथा 23 दिसम्बर से सितारा अधिक बेहतर बनेगा।


सिंह (म, मी, मू, मे, मो, ट, टी, टू, टे)
नया वर्ष मित्रों-सज्जन साथियों के साथ मेल-मिलाप कराने तथा उनकी मदद से आपके कामों को संवारने वाला होगा,अर्थ दशा प्राय: संतोषजनक बनी रहेगी, शत्रु आपके समक्ष ठहर न सकेंगे, प्रभाव दबदबा बना रहेगा।

आम हालात सामान्य से बने रहेंगे। 17 जनवरी से 7 मार्च तक समय बेहतर, किन्तु 2 मार्च से सितारा सेहत के लिए ढीला बनेगा, मगर 14 अप्रैल से सेहत बेहतर बनने लगेगी। फिर 20 अप्रैल से 15 मई तक सरकारी कामों, प्रोजैक्टों में हल्के यत्न से भी कामयाबी, 17 मई से आमदन का सितारा सुदृढ़ बनेगा, कारोबारी टूरिंग भी लाभ देगी, फिर लाभ देने वाला ग्रह 10 जून से ज्यादा सबल हो जाएगा। 17 जुलाई से समय उलझनों-झमेलों वाला बनेगा, 1 अगस्त से 1 सितम्बर तक का समय खर्चों तथा धन हानि वाला बनेगा, 2 सितम्बर से समय बेहतर बनेगा, मित्र साथी, कामकाजी सहयोगी तथा बड़े लोग आपकी आशा पर पूरा उतरेंगे तथा सहयोग के लिए हरदम तैयार दिखेंगे। 19 सितम्बर से आमदन बढ़ सकती है, कारोबारी टूरिंग अच्छा रिजल्ट दे सकती है। 12 अक्तूबर से कोर्ट-कचहरी तथा जायदादी कामों के लिए आपकी भागदौड़ अच्छा रिजल्ट दे सकती है, मगर 17 अक्तूबर से 16 नवम्बर तक घटिया लोगों से वास्ता न रखें, बीच में 6 नवम्बर से पति, पत्नी की सेहत के लिए ग्रह ढीला बनेगा, फिर 16 नवम्बर से वर्षांत तक हर तरह के हालात अनुकूल चलेंगे। 


कन्या (टो, प, पी, पू, ष, ण, ठ, पे, पो)
आम तौर पर सितारा धन लाभ वाला, वालों को अपने कामों में भरपूर लाभ मिलेगा, जमीनी-जायदादी कामों के लिए भागदौड़ भी अच्छा नतीजा देगी, शत्रु भी प्राय: कमजोर रहा करेंगे, मगर संतान के लिए ग्रह ढीला।

वर्ष के प्रारंभ से समय अनुकूल हालात रखेगा। 17 जनवरी से 7 मार्च तक बड़े लोगों के साथ मेलजोल लाभप्रद, फिर 2 मार्च से सेहत के लिए ग्रह ढीला बनेगा, 14 अप्रैल से सेहत के लिए कमजोर ग्रह ज्यादा ढीला होगा, किसी पर ज्यादा भरोसा न करें,  किसी के झांसे में भी न फंसें, फिर 20 अप्रैल से योजनाबंदी में कोई पेचीदगी हटेगी, 3 मई से संतान सहयोग देगी, स्कीमें भी बेहतर रिजल्ट देंगी, 10 से 25 जून तक पेचीदा तथा उलझे सरकारी काम हाथ में लेने पर यकीनन बेहतर रिटर्न मिलेगी, 17 जुलाई से धन लाभ बढ़ेगा, अलबत्ता 1 अगस्त से 1 सितम्बर तक सचेत रहें कि आप से किसी समय कोई गलत फैसला न हो जाए, फिर 17 अगस्त से खर्चों का प्रैशर बढ़ेगा, बाधाएं-मुश्किलें भी सिर उठाए रखेंगी। 17 सितम्बर से ग्रह पुन: बेहतर बनने लगेगा,19  सितम्बर से 17 अक्तूबर तक समय कामयाबी, इज्जत- मान वाला, कामकाजी दशा भी सुधरेगी, बड़े लोगों में आपकी  पैठ तथा लिहाज बढ़ेगा, 6 नवम्बर से दुश्मनों पर आपकी पकड़ बढ़ेगी, 16 नवम्बर से उत्साह, हिम्मत  भागदौड़ करने की क्षमता बढ़ेगी।


तुला (र, री, रू, रे, रो, त, ति, तू, ते) 
आम सितारा कारोबारी कामों को संवारने, अर्थदशा कंफर्टेबल रखने वाला, बड़े लोगों में मान-सम्मान, पैठ बनी रहेगी, आपका प्रभाव और दबदबा बना रहेगा। दुश्मनों से फासला रखें और टकराव टालने का यत्न करें।

वर्ष के प्रारंभ से आम हालात सुखद बने रहेंगे। 17 जनवरी  से  7 मार्च तक समय धन लाभ वाला, कारोबारी टूरिंग का सकारात्मक नतीजा मिलेगा, 2 मार्च से 8 मई तक किसी प्रबल शत्रु के साथ टकराव का खतरा बना रहेगा इसलिए दुश्मनों से फासला रखें तथा हर तरह के टकराव को टालने का यत्न करें। बीच में 14 अप्रैल से घरेलू मोर्चा पर राहत रहेगी। अलबत्ता 20 अप्रैल से सेहत में खराबी का डर, फिर 3 मई से सितारा अदालती, जमीनी कामों के लिए बेहतर, अफसर भी मेहरबान रहेंगे, तेज प्रभाव-दबदबा बढ़ेगा। 15 मई से 14 जून तक सेहत में गड़बड़ी के साथ-साथ गिरने तथा पांव के फिसलने का डर। फिर 1 अगस्त से 1 सितम्बर तक समय खर्चों, धनहानि, किसी पेमैंट को फंसाने तथा किसी झमेला को जगाने वाला होगा इसलिए पूरी सावधानी रखें। 2 सितम्बर से कामकाजी दशा सुधरेगी, मूड में खुशदिली बढ़ेगी। घूमने-फिरने, तीर्थ यात्रा सहित मनमोहक पर्यटक स्थल देखने के मौके मिल सकते हैं। फिर 17 अक्तूबर से स्वभाव में क्रोध तथा किसी के साथ झगड़ा हो जाने का खतरा रहेगा। 15 नवम्बर के बाद सितारा पुन: बेहतर बन जाएगा।


वृश्चिक (तो, न, नी, नू, ने, नो, य, यी, यू)
नया साल मिश्रित-सा होगा। आम हालात ठीक-ठाक रहेंगे। भागदौड़ भी बनी रहेगी। भरपूर जोर लगाकर यत्न करने पर कामयाबी मिलेगी। 

17 जनवरी से 7 मार्च तक आप हर मोर्चे पर हावी, प्रभावी, विजयी रहेंगे, फिर 2 से 25 मार्च तक संतान के लिए सितारा अच्छा, यत्न करने पर संतान से जुड़ी कोई समस्या हल हो सकती है, मगर 26 मार्च से 2 मई तक समय संतान के लिए ढीला बन जाएगा। फिर 20 अप्रैल से 15 मई तक समय कामकाजी कामों के लिए बेहतर, यत्नों में आशानुरूप सफलता मिलेगी, बड़े लोग, सज्जन मित्र, कामकाजी साथी पूरा सहयोग देंगे तथा तालमेल रखेंगे। फिर 10 से 25 जून तक समय सेहत के लिए ढीला, फिर 15 जून से तो पांव फिसलने के कारण कहीं चोट लगने का भी डर रहेगा। फिर 1 अगस्त से 1 सितम्बर तक  समय लाभ वाला, सरकारी कामों में कदम बढ़त की तरफ, बाधा-मुश्किल राह से हटेगी। फिर 17 सितम्बर से 5 अक्तूबर तक समय धन लाभ वाला, 12 अक्तूबर से कारोबारी दशा सुधरी रहेगी, तबीयत, सोच-विचार में गंभीरता बढ़ेगी, कामयाबी की राहें खुलेंगी अपितु 17 अक्तूबर से ग्रह खर्चों को बढ़ाने, अर्थदशा टाइट रखने तथा उलझनों को जागृत रखने वाला बनेगा, फिर 16 नवम्बर से समय कामकाजी कामों में कामयाबी तथा इज्जत-मान देने वाला बनेगा।


धनु (ये, यो, भ, भी, भू, ध, फ, ढ, भे) 
नया वर्ष कई पहलुओं से अच्छा होगा, धन लाभ, कारोबारी  लाभ के लिए अच्छा। कामकाजी भागदौड़ की अच्छी रिटर्न मिलेगी। चल रही साढ़ेसाती के कारण कोई भी काम अधूरी तैयारी से शुरू नहीं करना चाहिए।

शुरू वर्ष से समय बेहतर मगर 17 जनवरी से 7 मार्च तक उलझनों, मुश्किलों से वास्ता रहेगा हर काम संभल कर करें, 2 से  25 मार्च तक जमीनी, कोर्ट-कचहरी के कामों के लिए भागदौड़ अच्छा रिजल्ट देगी, फिर 26 मार्च से जमीनी कामों, अदालती कामों के लिए ग्रह कमजोर बन जाएगा तथा नतीजा आशानुरूप न मिलेगा। 3 मई से सितारा आमदन वाला बनेगा, कारोबारी टूरिंग भी अच्छा रिजल्ट देगी, फिर 10 से 25 जून तक घरेलू मोर्चे पर तालमेल, सहयोग रहेगा तथा दोनों पति-पत्नी एक-दूसरे के प्रति सपोॢटव रुख रखेंगे। फिर 1 अगस्त से 1 सितम्बर तक सरकारी कामों के लिए ग्रह ढीला। अफसरों के रुख में सख्ती तथा नाराजगी के कारण सरकारी कामों में टैंशन-परेशानी रहेगी। 17 सितम्बर से सेहत को बिगाडऩे तथा पांव फिसलाने वाला ग्रह हट जाएगा तथा कामयाबी की राहें खुलेंगी। वैसे 19 सितम्बर से 5 अक्तूबर तक सरकारी कामों में कदम बढ़त की तरफ, फिर 17 अक्तूबर से 16 नवम्बर तक सितारा पुन: आमदन के लिए अच्छा, 17 नवम्बर से 15 दिसम्बर तक अपने आपको उलझनों, झमेलों से बचा कर रखें, खर्चों का भी जोर, 15 दिसम्बर के बाद समय पुन: बेहतर बनेगा।


मकर (भो, ज, जी, जु, जे, जो, ख, खी, खू, खे, खो, ग, गी)
सरकारी कामों के लिए सितारा श्रेष्ठ, अफसरों के साफ्ट, सपोर्टिव, हमदर्दाना रुख के कारण सरकारी कामों में पेचीदगियां हटेंगी। शत्रु किसी-किसी समय सिर उठाते तो नजर आएंगे तो भी उनकी कोई खास पेश न चलेगी।

जनवरी का पूर्वाद्र्ध ढीला, किसी समस्या को सहजता से न लें, खर्चों का भी जोर बना रहेगा। 17 जनवरी से 7 मार्च तक समय कामों को संवारने, अर्थदशा कंफर्टेबल रखने वाला, किसी नए कामकाजी प्रोग्राम में पेशकदमी होगी। फिर 2 से 25 मार्च तक बड़े लोगों, सज्जन-साथियों से मेल-सहयोग तथा उनकी मदद से बेहतरी के हालात बनेंगे किंतु 26 मार्च से हल्की सोच वाले लोगों से नुक्सान का डर। 20 अप्रैल से संतान सहयोग करेगी, समस्या को सुलझाने में मदद देगी, तीर्थ यात्रा सहित सफर के किसी प्रोग्राम में रुचि रहेगी किंतु 15 मई से शत्रु उभरना शुरू कर देंगे, फिर 10 से 25 जून  तक किसी प्रबल विरोधी के साथ टकराव का डर बढ़ जाएगा। 5 जुलाई से सेहत का भी ध्यान रखना सही रहेगा,1 अगस्त से 1 सितम्बर तक समय बाधाओं वाला। 2 सितम्बर से राजकीय कामों के वास्ते सितारा जोरदार बन जाएगा, फिर 17 अक्तूबर से 16 नवम्बर तक अफसरों के रुख में सख्ती, नाराजगी बढ़ेगी इसलिए सरकारी यत्न पटरी से उतरते नजर आएंगे, फिर 17 नवम्बर से 15 दिसम्बर तक वक्त आमदन वाला, अर्थदशा सुधरी रहेगी मगर दिसम्बर का उतराद्र्ध ढीला तथा कठिनाइयों को उभारने वाला होगा।


कुंभ (गु, गे, गो, स, श, सी, शी, सू, शू, से, शे सो, शो, द)
बेशक खर्चों का जोर रहेगा तो भी धन लाभ तथा कारोबारी टूरिंग के लिए बढिय़ा सितारे के कारण अर्थदशा कंफर्टेबल रहेगी, यत्न करने पर आपकी योजनाबंदी कुछ आगे बढ़ेगी, धार्मिक कामों में रुचि रहेगी।

जनवरी के प्रारंभ से समय अर्थदशा कंफर्टेबल रखेगा। 17 जनवरी से खर्च बढ़ेंगे मगर सरकारी कामों में बोलबाला बढ़ेगा, फिर 2 से 25 मार्च तक समय जोरदार, आमदन, कारोबारी कामों, कारोबारी टूरिंग के लिए लाभप्रद, यत्न करने पर किसी कामकाजी काम में कोई बाधा-मुश्किल हटेगी, किंतु 26 मार्च से आमदन वाला ग्रह कुछ ढीला बन जाएगा, फिर 14 अप्रैल से मित्रों, सज्जन-साथियों से मेल-मिलाप तथा कारोबारी दशा भी सुधरेगी। 20 अप्रैल से 15 मई तक कोर्ट-कचहरी तथा जमीनी काम हाथ में लेने पर बेहतर नतीजा मिलने की आशा। फिर 10 से 25 जून तक समय स्कीमों को संवारने, संतान के रुख को पॉजीटिव रखने वाला होगा, 26 जून से शत्रु किसी-किसी समय  सिर उठाते नजर आएंगे मगर 16 जुलाई के बाद उनके विरोध में जोर कम होता दिखेगा। 1 अगस्त से 1 सितम्बर तक का समय सेहत के लिए ढीला। फिर 2 सितम्बर से यत्न करने पर योजनाबंदी कुछ आगे बढ़ेगी, 6 अक्तूबर से समय बेहतर बनने लगेगा, फिर 12 अक्तूबर से राजकीय कामों में आपकी सुनवाई बढ़ेगी। 17 अक्तूबर से सेहत सुधरेगी,गिरने-फिसलने का खतरा कम हो जाएगा तथा आगे समय वर्षांत तक बेहतर हालात बनाए रखेगा।


मीन (दि, दू, थ, झ, दे, दो, च, चि)
सरकारी कामों के लिए आपकी भागदौड़ अच्छा नतीजा देगी, अफसरों, बड़े लोगों में मान-सम्मान, पैठ बढ़ेगी। कामकाजी दशा पहले जैसी ही बनी रहेगी। कमजोर राहू का यदि उपाय-शांति हो जाए तो बेहतर रहेगा।

शुरू साल से आम सितारा सही। 17 जनवरी से सेहत सुधरेगी, उद्देश्य प्रोग्राम मैच्योर होंगे, बाधाओं-मुश्किलों पर कंट्रोल बढ़ेगा, 6 फरवरी से समय कमजोर बनेगा, खर्चों, उलझनों-मुश्किलों का जोर रहेगा, 2 से 25 मार्च तक कामयाबी का स्कोप बढ़ेगा, अर्थ-कारोबारी दशा सुधरी रहेगी, फिर 26 मार्च से मन तथा बुद्धि पर गलत सोच प्रभावी रह सकती है इसलिए सचेत रहें कि किसी समय आप कोई गलत फैसला न ले लें। फिर 14 अप्रैल से 14 मई तक अर्थ दशा कंफर्टेबल, कारोबारी टूरिंग लाभप्रद। फिर 3 मई से आमदन बढ़ेगी, कारोबारी कामों में कदम बढ़त की तरफ। 10 से 25 जून तक कोर्ट-कचहरी, जमीनी कामों में बोलबाला, पैठ बढ़ेगी, 1 अगस्त से 1 सितम्बर तक घरेलू मोर्चे पर टैंशन रह सकती है, फिर 2 सितम्बर से सेहत का ध्यान रखें,19 सितम्बर से 5 अक्तूबर तक घरेलू मोर्चे पर सहयोग-तालमेल बढ़ेगा, हर मोर्चे पर दोनों पति-पत्नी की एक जैसी सोच रहेगी, आमतौर पर कामयाबी तथा बेहतरी का सिलसिला बना रहेगा। 17 अक्तूबर से 16 नवम्बर तक सेहत के लिए ग्रह ढीला बनेगा। खान-पान संभाल कर करें। दूसरों के झांसों में आने से बचें, चोट लगने का डर रहेगा। फिर 16 नवम्बर के बाद वर्षांत तक समय अनुकूल, कामयाबी मिलेगी।



अपना सही जीवनसंगी चुनिए | केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन