पंजाब यूनिवर्सिटी की सिंडीकेट मीटिंग में हुए यह फैसले, पढ़ें पूरी खबर

Tuesday, March 21, 2017 1:36 AM
पंजाब यूनिवर्सिटी की सिंडीकेट मीटिंग में हुए यह फैसले, पढ़ें पूरी खबर

चंडीगढ़ (रश्मि): द इस्टर्न इंस्टीच्यूट फॉर इंटीग्रेटिट लर्निंग इन मैनेजमैंट (ई.आई.आई.एल.एम.) सिक्किम की 2014-15 की डिग्री अमान्य मानी जाएगी, क्योंकि तब यूनिवर्सिटी बंद थी। ऐसे में इस दौरान की डिग्री वाले स्टूडैंट्स को पी.यू. में एडमिशन नहीं मिलेगी, जिन्हें दाखिल दिया गया है उन्हें लेकर विचार किया जाएगा। यह भी हो सकता है कि इनकी पढ़ाई  रोक दी जाए। यह फैसला सोमवार को पंजाब यूनिवर्सिटी की सिंडीकेट मीटिंग में लिया गया।  सिक्किम यूनिवर्सिटी की मान्यता सिर्फ एक साल 2014-15 के लिए ही रद्द हुई है।

पी.यू. कैश के नए सदस्यों की नियुक्ति को लेकर सब कमेटी बना दी है। मामला वी.सी. को ऑथोराईज कर दिया है। पी.यू कैश के सदस्यों की दो साल की टर्म खत्म होने वाली है। इस सब कमेटी के सदस्य सीनेटर गुरदीप शर्मा, रविद्र शर्मा  प्रो. पैम राजपूत, प्रो. नवदीप गोयल, पूटा  प्रैजीडैंट  प्रो. प्रोमिला और पूसा प्रैजीडेंट  दीपक कौशिक रहेंगे एम.ए. हिस्टरी में एंट्रैस टैस्ट के मामले में कमेटी बना दी गई है।

इतना ही नहीं सभी पी.जी. कोर्सिज में एंट्रैस टैस्ट को लेकर चेयरपर्सन से राय ली जाएगी पी.यू. ऑडिटोरियम के किराए  का मामला फिर से डैफर कर दिया गया। गैस्ट हाऊस के किराए का मामला पहले भी कई बार सिंडीकेट में आ चुका है कालेज में शिक्षकों की सेवानिवृती की उम्र  65 करने के मामले को भी डैफर कर दिया गया यू.जी.सी. की अमैंडमैंट 3 व 4 को अडाप्ट करने के मामले में कमेटी बना दी है शिलांग यूनिवर्सिटी की मान्यता रद्द नहीं की गई है।

मान्यता को लेकर अदालत से भी आर्डर फेवर में आ चुके हैं। मान्यता मिलने से अब प्रिंसीपल बी.सी. जोसन की बेटी की नौकरी पर कोई आंच नहीं आएगी।



विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !