इस बच्ची के इलाज से पी.जी.आई. ने किया मना, पिता ने लगाई मदद की गुहार

Friday, May 19, 2017 1:17 PM
इस बच्ची के इलाज से पी.जी.आई. ने किया मना, पिता ने लगाई मदद की गुहार

चंडीगढ़: हैरान करने वाली बात है कि नौ महीने की बच्ची का वजन 20 किलो से ज्यादा है। यह कोई अच्छी सेहत नहीं बल्कि एक गंभीर बिमारी है। अमृतसर की चाहत को इस बीमारी के इलाज के  लिए चंडीगढ़ पी.जी.आई. लाया गया। लेकिन पी.जी.आई. ने इलाज करने से मना कर दिया। पैसे की कमी के कारण पी.जी.आई. ने बच्ची के इलाज करने के लिए मना कर दिया। चाहत के जीन के सैंपल की टेस्टिंग के लिए दो लाख रुपए की जरूरत थी। यह रकम उसके पिता सूरज नहीं जुटा पाए तो पी.जी.आई. के डॉक्टरों ने इलाज से हाथ खड़े कर दिए कि बिना पैसे इलाज नहीं होगा।

चार महीने से बढ़ रहा है वजन...
परिवार वालों ने बताया कि चाहत का वजन चार माह की उम्र से ही लगातर बढ़ रहा है। उसका वजन 20 किलोग्राम तक पहुंच गया है। नौ माह की मासूम को मोटापे की गंभीर बीमारी के इलाज के लिए सैंपल टेस्टिंग के लिए दो लाख चाहिए। 

पिता करता है केबल ठीक करने का काम...
चाहत का पिता सूरज केबल ठीक करने का काम करता है। उसका कहना है कि वह इतनी राशि वह जमा नहीं कर सकते जिस कारण उन्हें अमृतसर वापस जाना पड़ा। जाने के बाद वह 15 हजार रुपए ही जुटा पाए। उन्होंने लोगों से भी अपील की कि कोई वित्तीय रूप से उनकी मदद करे ताकि वह अपनी बेटी को नई जिंदगी दे सके। परिजनों ने चाहत की मदद के लिए 9888084583 नंबर जारी किया है।



विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !