स्नेहालय में CCPCR ने बच्चों की सुरक्षा को लेकर की बैठक, लिए अहम फैसले

Wednesday, September 13, 2017 10:55 AM
स्नेहालय में CCPCR ने बच्चों की सुरक्षा को लेकर की बैठक, लिए अहम फैसले

चंडीगढ(रश्मि) : मलोया स्थित स्नेहालय में मंगलवार को चंडीगढ़ कमीशन फॉर प्रोटैक्शन ऑफ चाइल्ड राइट्स (सी.सी.पी.सी.आर.) द्वारा बैठक चेयरपर्सन हरजिंद्र कौर के नेतृत्व में की गई। बैठक आयोजित करने का मुख्य उद्देश्य चंडीगढ़ को चाइल्ड फ्रैंडली व सिक्योर बनाना था। बैठक में विभिन्न स्कूलों के प्रिंसीपल्स ने भी हिस्सा लिया। हरजिंद्र कौर ने वर्तमान में चल रहे स्कूलों में छात्रों की सुरक्षा के मुद्दे व यौन शोषण आदि विषयों पर चर्चा की।

 

बैठक का सबसे पहला एजैंडा था कि स्कूलों में चाइल्ड फ्रैंडली कमेटी बनाई जाए, जिसमें स्कूलों के प्रिंसीपल को चेयपर्सन, मेल टीचर, फीमेल टीचर, एस.एम.सी मेल मैंबर, एस.एम.सी फीमेल मैंबर, दो स्टूडैंट रिप्रजैंटेटिव को-कमेटी के मैंबर व काउंसलर को-कमेटी का मैंबर कन्वीनर के तौर पर शामिल किया जाए। सभी स्कूलों के प्रिंसिपल्स को हिदायत दी गई कि कमेटी का गठन कर रिपोर्ट शिक्षा विभाग के डी.ई.ओ कार्यलय में भेजें व डी.ई.ओ. कार्यालय से ज्वाइंट रिपोर्ट सी.सी.पी.सी.आर. को भेजी जाए। कमेटी का मुख्य उद्दश्य न सिर्फ बच्चों की सुरक्षा हो अपितु बच्चों में सर्जनात्मकता को भी बढ़ावा देना भी है।     

 

दूसरा एजैंडा : बैठक में निर्णय लिया कि बच्चों को ब्लू व्हेल गेम से दूर किया जाए और इसके प्रति सभी स्कूलों में जागरूकता फैलाई जाए। 

 

तीसरा एजैंडा : बैठक का तीसरा एजैंडा था कि सभी स्कूलों में बिजली उपकरणों की समय- समय पर जांच करवाई जाए। इसके लिए डी.ई.ओ. से निर्देश जारी किए जाएं व सी.सी.पी.सी.आर. टीम समय-समय पर स्कूलों में जांच के लिए जाएगी।

 

चौथा एजैंडा : चौथे एजैंडे में पोक्सो केस कमीशन द्वारा चलाए गए अवेयरनैस कार्यक्रम शाऊट एंड स्टॉप  से अवगत कराया गया। मार्निंग  एसैंबली में बच्चों को इससे अवगत करवाने के निर्देश जारी करने को कहा। 

 

पांचवा एजैंडा : इसमें डी.ई.ओ. कार्यालय को निर्देश दिए कि जो प्रोफोर्मा सी.सी.पी.सी.आर. द्वारा आर.टी.ई. के तहत स्कूलों में भेजा गया था वह अभी तक नहीं मिला है। ऐसे में सभी स्कूलों का प्रफोर्मा भरकर कार्यालय में जमा करवाए।

 

छठा एजैंडा : इसमें डिप्टी डी.ई.ओ. ने सूचना दी कि दाखिलों के लिए पांचवी काऊंसलिंग भी खत्म हो चुकी है। कोई छात्र शिक्षा से वंचित है तो उसे भी कवर का लिया जाएगा। सी.बी.एस.ई. ने जो वोकेशनल कोर्स बंद किए हैं उन्हें भी फिर से शुरू करवाने दोबारा शुरू करवाने का प्रयास किया जाएगा।

 

सातवां एजैंडा : इसमें बच्चों की सुरक्षा संबंधी कुछ गाइडलाइंस बताई गईं जो चंडीगढ़ प्रशासन ने जारी की हैं। 

-जूनियर विंग व सीनियर विंग के लिए अलग टॉयलैट।

-सभी स्टाफ मैंबर्स आई कार्ड पहनेंगे। 

-आने-जाने वालों का पूरा ब्यौरा दर्ज होगा। 

-सी.सी.टी.वी. कैमरें दुरूस्त किया जाएगा।

-प्रिंसीपल यह पुष्टि करेगा कि कोई भी छात्र कक्षा, रिसैस या असैम्बली टाइम में अकेला नहीं रहेगा।

-गेट कीपर की कनैक्टिविटी प्रिंसिपल से डायरैक्ट की जाए।

 

आठवांं एजैंडा : इसमें स्कूल के आसपास की स्वच्छता पर भी ध्यान देने को कहा।



यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!