Wipro ने 600 कर्मचारियों को दिखाया बाहर का रास्ता, जानिए क्यों?

Friday, April 21, 2017 9:47 AM
Wipro ने 600 कर्मचारियों को दिखाया बाहर का रास्ता, जानिए क्यों?

नई दिल्लीः देश की तीसरी दिग्गज आई.टी. कंपनी विप्रो से 600 कर्मचारियों को नौकरी से निकालने की खबर आ रही है। खबरों के मुताबिक कर्मचारियों को इससे पहले इस तरह की कोई जानकारी नहीं दी गई थी। बताया जा रहा है कि कर्मचारियों की संख्‍या 2 हजार भी हो सकती है। बेंगलुरु स्थित इस कंपनी में पिछले साल दिसंबर तक 1.79 लाख्‍ा कर्मचारी थे।

छंटनी के ये हो सकते हैं कारण
आई.टी. सेक्टर में जॉब की दिक्कतें थमने का नाम नहीं ले रही हैं। विप्रो से पहले ग्लोबल आई.टी. कंपनी काग्निजेंट से भारी मात्रा में छंटनी की खबर सामने आईं थी। आई.टी. सेक्टर में जॉब जाने के मुख्य कारण यू.एस. में एच1बी वीजा के नियमों में सख्ती को माना जा रहा है। यू.एस. के अलावा भी जॉब के लिहाज से बड़े बाजार सिंगापुर, यू.के., ऑस्ट्रेलिया में भी भारतीय इंजीनियरों को जॉब पाने में दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। ग्लोबल मार्कीट में गहराते इस संकट के साथ साथ आटोमेशन भी आई.टी. सेक्टर में जॉब जाने की एक बड़ी वजह है।



यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!