हार्ले डेविडसन पर उच्च कस्टम ड्यूटी के लिए ट्रंप ने भारत पर साधा निशाना

Wednesday, February 14, 2018 1:24 PM
हार्ले डेविडसन पर उच्च कस्टम ड्यूटी के लिए ट्रंप ने भारत पर साधा निशाना

नई दिल्लीः अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने आज हार्ले डेविडसन मोटरसाइकिल पर उच्च कस्टम ड्यूटी को लेकर भारत पर निशाना साधा और इसे अनुचित करार दिया। ट्रंप की यह प्रतिक्रिया उस समय आई है जब भारत ने हार्ले डेविडसन जैसी महंगे ब्रांड की आयतित मोटरसाइकिलों पर कस्टम ड्यूटी को घटाकर 50 प्रतिशत कर दिया है। यही नहीं ट्रंप ने भारतीय मोटरसाइकिलों पर कस्टम ड्यूटी बढ़ाने की भी धमकी दी। इस्पात उद्योग पर कांग्रेस के सदस्यों के साथ चर्चा के दौरान ट्रंप ने यह बात कही।

ट्रंप ने कहा कि भारत सरकार ने हाल में आयातित मोटरसाइकिलों पर शुल्क 75 प्रतिशत से घटाकर 50 प्रतिशत कर दिया है, जो कि काफी नहीं है और उन्होंने इसे परस्पर अनुवर्ती बनाने के लिये कहा है क्योंकि अमेरिका में मोटरसाइकिल आयात पर शून्य कर लगता है। अमेरिकी राष्ट्रपति ने अप्रत्यक्ष रूप से इस संबंध में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ हुई हालिया बातचीत का भी उल्लेख किया। ट्रंप ने मोदी के साथ पिछले हफ्तों हुई बातचीत के संदर्भ में कहा, भारत से एक महान सज्जन ने मुझे फोन किया और कहा कि हमने मोटरसाइकिलों पर शुल्क को 75 प्रतिशत और यहां तक कि 100 प्रतिशत से घटाकर 50 प्रतिशत कर दिया है।
PunjabKesari
ट्रंप ने एक बार फिर से परस्पर अनुवर्ती कर की वकालत करते हुए देशों पर अमेरिका के साथ व्यापारिक संबंधों का दुरुपयोग करने का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा, इसलिए मैं कहता हूं, कि इस तरह के मामलों में परस्पर अनुवर्ती कर होना चाहिए। मैं भारत को दोष नहीं दे रहा हूं। मुझे लगता है कि उन्हें इसके साथ जाना चाहिए। मुझे नहीं पता क्यों लोग उन्हें इससे (परस्पर अनुवर्ती कर) दूर रहते हैं, लेकिन यह एक उदाहरण है जो कि अनुचित है। मेरा मानना है कि परस्पर अनुवर्ती कर होना चाहिए। उल्लेखनीय है कि हार्ले डेविडसन व ट्रायंफ जैसी महंगे ब्रांड की आयातित मोटरसाइकिलें कस्टम ड्यूटी कम होने के बाद भारत में सस्ती होने जा रही हैं। अब तक 800 सीसी या इससे कम इंजन क्षमता वाली मोटरसाइकिल के आयात पर 60 प्रतिशत शुल्क लगता था। वहीं 800 सीसी व इससे अधिक इंजन क्षमता वाले इंजन पर 75 प्रतिशत शुल्क लगता है।    



अपना सही जीवनसंगी चुनिए | केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन