रियल एस्टेट पर नोटबंदी का असर हुआ खत्म!

Friday, June 16, 2017 10:46 AM
रियल एस्टेट पर नोटबंदी का असर हुआ खत्म!

नई दिल्ली: नकदी आधारित रियल एस्टेट क्षेत्र नोटबंदी के कारण बुरी तरह प्रभावित हुआ था। खरीदारों ने मकान खरीदने की योजना स्थगित कर दी थी जिससे बिक्री में भारी गिरावट आई लेकिन क्या रियल एस्टेट पर नोटबंदी का असर खत्म हो चुका है। देश के 8 बड़े राज्यों को स्टाम्प ड्यूटी और रजिस्ट्रेशन फीस से हर महीने होने वाली कमाई का विश्लेषण किया गया। इसके मुताबिक पिछले साल नवम्बर से इस साल मार्च तक हर महीने इसमें कमी आई लेकिन पिछले कुछ महीनों के दौरान स्थिति बेहतर हुई है। राज्यों को स्टाम्प ड्यूटी और रजिस्ट्रेशन फीस से हुई कमाई से इन राज्यों में रियल एस्टेट क्षेत्र में जारी रुझानों का पता मिलता है।

नवम्बर में राजस्व में आई 13.1 प्रतिशत की कमी
आंध्र प्रदेश, गुजरात, हरियाणा, कर्नाटक, तमिलनाडु, तेलंगाना, उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड के रिकॉर्ड को खंगालने पर पता चला कि नोटबंदी से पहले ही स्टाम्प ड्यूटी तथा रजिस्ट्रेशन फीस से समग्र राजस्व संग्रह में कमी आने लगी थी। अगस्त में 36.8 प्रतिशत बढऩे के बाद राजस्व सितम्बर में घटकर 8.6 प्रतिशत और अक्तूबर में 2.7 प्रतिशत रह गया लेकिन नोटबंदी के बाद राजस्व संग्रह पूरी तरह गिर गया। नवम्बर में राजस्व में 13.1 प्रतिशत की कमी आई।
PunjabKesari
मार्च में स्थिति में आया सुधार 
राजस्व संग्रह में जनवरी में 25.9 प्रतिशत की गिरावट आई। फरवरी में इसमें थोड़ा सुधार हुआ और गिरावट 19.4 प्रतिशत रही। मार्च में राजस्व में गिरावट 12.7 प्रतिशत रही। विशेषज्ञों के अनुसार नोटबंदी की घोषणा के बाद रियल एस्टेट पर इसका असर निश्चित रूप से महसूस किया गया। यह असर 8 नवम्बर से फरवरी के अंत तक रहा लेकिन मार्च में स्थिति में सुधार आया। नवम्बर से दिसम्बर तक सबसे बुरा हाल रहा। जनवरी में खरीदारों ने परियोजना स्थलों पर जाना शुरू किया।




विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !