सरकार ने संसद में पेश की छमाही आर्थिक समीक्षा

Thursday, August 10, 2017 1:48 PM
सरकार ने संसद में पेश की छमाही आर्थिक समीक्षा

नई दिल्लीः सरकार ने संसद में छमाही आर्थिक समीक्षा पेश की है। सर्वे में 2000 करोड़ रुपये की लागत से 10 नमामि गंगे प्रॉजेक्ट्स को मंजूरी मिली है। वित्त वर्ष 2018-19 के लिए 23.4 लाख करोड़ रुपए के खर्च का अनुमान है। वहीं वित्त वर्ष 2019-20 के लिए 22.06 लाख करोड़ रुपए के खर्च का अनुमान है।

फूड सब्सिडी
वित्त वर्ष 2019 के लिए फूड सब्सिडी पर 1.75 लाख करोड़ रुपए के खर्च का अनुमान है। वहीं वित्त वर्ष 2020 के लिए फूड सब्सिडी पर 2 लाख करोड़ रुपए के खर्च का अनुमान है।

पैट्रोलियम सब्सिडी
वित्त वर्ष 2019 के लिए पैट्रोलियम सब्सिडी पर 18000 करोड़ रुपए के खर्च का अनुमान है। वहीं वित्त वर्ष 2020 के लिए पैट्रोलियम सब्सिडी पर 10000 करोड़ रुपए के खर्च का अनुमान है।
PunjabKesari
फर्टिलाइजर सब्सिडी
वित्त वर्ष 2019 के लिए फर्टिलाइजर सब्सिडी पर 70000 करोड़ रुपए के खर्च का अनुमान है। वित्त वर्ष 2020 के लिए भी फर्टिलाइजर सब्सिडी पर 20000 करोड़ रुपए के खर्च का अनुमान है।

ब्याज
वित्त वर्ष 2019 में 5.6 लाख करोड़ रुपए का ब्याज देने का अनुमान है। वित्त वर्ष 2020 में 6.15 लाख करोड़ रुपए का ब्याज देने का अनुमान है।

टैक्स से आय
वित्त वर्ष 2019 में टैक्स से आय 15 फीसदी बढ़ने का अनुमान है। वित्त वर्ष 2020 में टैक्स से आय 14.5 फीसदी बढ़ने का अनुमान है।

पेंशन भुगतान
वित्त वर्ष 2019 में 1.44 लाख करोड़ रुपए पेंशन भुगतान का अनुमान है। वित्त वर्ष 2020 में 1.56 लाख करोड़ रुपए पेंशन भुगतान का अनुमान है।
PunjabKesari
क्या है आर्थिक समीक्षा
आर्थिक समीक्षा में देश के भीतर विकास का रुझान कैसा रहा, देश के किस क्षेत्र में कितना निवेश हुआ, कृषि समेत अन्य उद्योगों का कितना विकास हुआ, योजनाओं को किस तरह अमल में लाया गया इनके बारे में विस्तार से बताया जाता है। यह संसद के दोनों सदनों में पेश किया जाता है। इससे पिछले साल की आर्थिक प्रगति का लेखा-जोखा मिलता है। साथ ही नए वित्त वर्ष में आर्थिक विकास की राह क्या होगी, इसका अनुमान भी लग जाता है।




विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !