एनपीए बढ़ने से SBI का मुनाफा 38 प्रतिशत घटा

Friday, November 10, 2017 2:36 PM
एनपीए बढ़ने से SBI का मुनाफा 38 प्रतिशत घटा

नई दिल्लीः देश के सबसे बड़े बैंक भारतीय स्टेट बैंक का एकल शुद्ध मुनाफा चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में 37.69 प्रतिशत कम होकर 1,581.55 करोड़ रुपए रह गया। पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में यह 2,538.32 करोड़ रुपए रहा था। समग्र आधार पर बैंक को पिछले साल 30 सितंबर को समाप्त तिमाही में 116.65 करोड़ रुपए का नुकसान हुआ था जबकि इस साल समान तिमाही में उसे 1,952.30 करोड़ रुपए का शुद्ध लाभ हुआ है।

बैंक ने आज यहां निदेशक मंडल की बैठक के बाद परिणामों की घोषणा की। पिछले साल 30 सितंबर को उसकी समग्र गैर निष्पादित परिसंपत्ति (एन.पी.ए.) 7.14 प्रतिशत यानी 1,05,782.96 करोड़ रुपए रही थी जो इस साल 30 सितंबर को बढ़कर 9.83 प्रतिशत यानी 1,86,114.60 करोड़ रुपए पर पहुंच गई। शुद्ध एन.पी.ए. 4.19 प्रतिशत यानी 60,013.45 करोड़ रुपए से बढ़कर 5.43 प्रतिशत यानी 97,896,29 करोड़ रुपए हो गया। एकल आधार पर बैंक ने आलोच्य तिमाही में एन.पी.ए. के मद में 16,715.20 करोड़ रुपए का प्रावधान किया है। एक साल पहले समान तिमाही में इस मद में 7,669.66 करोड़ रुपए का प्रावधान किया गया था। इस कारण बैंक का एकल मुनाफा कम हुआ है।

उल्लेखनीय है कि इस साल 01 अप्रैल से स्टेट बैंक की तत्कालीन पांच अनुषंगी इकाइयों और भारतीय महिला बैंक का इसमें विलय कर दिया गया था। इससे एकल आंकड़े पिछले वित्त वर्ष से पूरी तरह तुल्य नहीं हैं। बैंक ने बताया कि ब्याज के रूप में प्राप्त आय लगभग स्थिर रही है। इसमें 0.05 प्रतिशत की मामूली बढ़ौतरी दर्ज की गई है। वहीं, ब्याज के रूप में दी गई राशि 1.19 प्रतिशत कम होकर 36,264 करोड़ रुपए  रह गई। 



यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!