सस्ते घरों की बिक्री बढ़ी, बैंकों में होम लोन के आवेदनों की बाढ़!

Sunday, June 11, 2017 11:52 AM
सस्ते घरों की बिक्री बढ़ी, बैंकों में होम लोन के आवेदनों की बाढ़!

मुंबईः बिल्डर अब ऐसे घर बना रहे हैं जो मिडल क्लास अफॉर्ड कर सके। इसका कारण यह है कि 30 लाख से कम की कीमत वाले घरों की सेल्स से होम लोन्स की डिमांड तेजी से बढ़ी है। बिल्डरों को यह आइडिया इस साल के बजट से आया जिसमें अफोर्डेबल हाऊसिंग के लिए आकर्षक कर और ब्याज में छूट की पेशकश की गई थी। इस साल बैंकों में जो पैसा क्रेडिट हुआ है उसमें आधा हाऊसिंग लोन के जरिए आया है। 

एच.डी.एफ.सी. के चेयरमैन दीपक पारेख के मुताबिक, बैंक में दिसबंर के मुकाबले जनवरी में होम लोन के आवेदनों में 21 फीसदी की बढ़त देखी गई। फरवरी में यह संख्या 24 फीसदी रही और मार्च में पिछले महीने के मुकाबले होम लोन के आवेदनों में 44 फीसदी का इजाफा हुआ। उन्होंने कहा, 'इस बढ़त के पीछे ऊंचे दामों वाली प्रॉपर्टी नहीं बल्कि अफोर्डेबल होम्स हैं। अभी तक हमारा औसत होम लोन साइज 25.6 लाख है और कई तिमाहियों में पहली बार ऐसा हुआ है जब एच.डी.एफ.सी. का औसत होम लोन साइज 26 लाख से नीचे आया है।'
PunjabKesari
हाऊसिंग फाइनैंश प्रवाइडर्स को उम्मीद है कि प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गत दी जाने वाली सब्सिडी से अफोर्डेबल होम लोन सेगमेंट में 25 फीसदी का इजाफा देखने को मिलेगा। यह योजना दिसंबर 2017 तक लागू रहेगी और इसमें 12 लाख सालाना आय वालों को 9 लाख रुपए के लोन पर 4 फीसदी और 18 लाख सालाना आय वालों को 12 लाख रुपए के लोन पर 3 फीसदी की छूट मिलेगी। 

केंद्र सरकार ने प्रधानमंत्री आवास योजना लांच की थी। इसमें अफोर्डेबल हाऊस बनाने वाले डिवेलपर्स को 3 सालों की बजाय 5 सालों तक टैक्स चुकाने से छूट मिलेगी। यह सीमा 2016 से लागू हो गई। मेट्रो सिटीज में 300 स्क्वेयर फीट और नॉन-मेट्रो एरिया में 600 स्क्वैयर फीट वाले घरों पर यह लागू होगी। 




विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !