रियल एस्टेट कारोबार सुधार के रास्ते पर: सर्वेक्षण

Monday, February 12, 2018 10:36 AM
रियल एस्टेट कारोबार सुधार के रास्ते पर: सर्वेक्षण

नई दिल्लीः एक सर्वेक्षण के मुताबिक रियल एस्टेट बाजार पटरी पर लौटने लगा है। नोटबंदी, जीएसटी और रेरा जैसे आर्थिक सुधारों के साथ तालमेल बिठाने के बाद अब ज्यादातर महानगरों में बिक्री गतिविधियां बढ़ने लगीं हैं हालांकि इस दौरान संपत्तियों के दाम या तो कम हुए हैं या फिर पुराने स्तर पर ही टिके हुए हैं।

प्रापर्टी पोर्टल 99एकड़ डॉट कॉम द्वारा किए गए सर्वेक्षण के मुताबिक ज्यादातर महानगरों में संपत्तियों के दाम या तो कम हुए हैं या फिर पूर्वस्तर पर ही टिके हुए हैं जबकि कुल मिलाकर बाजार में बिक्री कारोबार में सुधार देखा जा रहा है। सर्वेक्षण के मुताबिक पुणे, मुंबई और बेंगलूरू जैसे शहरों में संपत्तियों की मांग बढ़ने लगी है और बिक्री गतिविधियां दिखने लगी हैं। इन शहरों में दाम कम होने के बाद बिक्री बढ़ी है। दूसरी तरफ हैदराबाद और कोलकाता जैसे शहरों में अक्तूबर-दिसंबर 2017 तिमाही में पिछले साल की इसी अवधि के मुकाबले किराया चार प्रतिशत तक बढ़ा है। मुंबई और बेंगलूरू में इस दौरान किराए में तीन प्रतिशत वृद्धि हुई है।

सर्वेक्षण रिपोर्ट के मुताबिक मुंबई, दिल्ली एनसीआर में तैयार मकानों की काफी उपलब्धता है जिसकी वजह से कुछ खास इलाकों में इनके दाम कुछ नीचे आये हैं। खासकर गुड़गांव, नौएडा और नवी मुंबई में ऐसा देखा गया है। 99एकड़ डॉट काम के मुख्य व्यावसायिक अधिकारी नरसिम्हा जयकुमार ने कहा, ‘‘वर्ष 2017 की पहली छमाही जहां खरीदारों की गिरती संख्या को लेकर चुनौती भरा रहा वहीं दूसरी छमाही में क्षेत्र से जुड़े सभी पक्षकार-खरीदारी विचारमग्न की स्थिति में रहे।’’ उन्होंने कहा कि खरीदारी रेरा के लागू होने और संपत्तियों पर उसका प्रभाव पड़ने की प्रतीक्षा में रहे। रेरा के लागू होनें के बाद खरीदारों का विश्वास कुछ बढ़ा है और पूछताछ और बिक्री में विभिन्न शहरों में कुछ तेजी आई। 



अपना सही जीवनसंगी चुनिए | केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन