RBI ने की नोटों की प्रिंटिंग के ऑर्डर में कटौती, ये बताई वजह

Saturday, November 11, 2017 12:38 PM
RBI ने की नोटों की प्रिंटिंग के ऑर्डर में कटौती, ये बताई वजह

नई दिल्‍लीः भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने चालू वित्‍त वर्ष में करंसी नोटों की प्रिंटिंग के लिए अपने ऑर्डर में कटौती कर दी है। कटौती की वजह से पिछले 5 साल की तुलना में यह ऑर्डर अपने निम्‍नतम स्‍तर पर आ गया है। आर.बी.आई. ने ये कदम केंद्रीय बैंक और कॉमर्शियल बैंकों की करेंसी चेस्‍ट में नए नोट रखने की जगह न होने के कारण उठाया है। करंसी चेस्‍ट पुराने बंद हो चुके नोटों से भरे पड़े हैं।

इस मामले से जुड़े दो लोगों ने बताया कि आर.बी.आई. ने वित्‍त वर्ष 2018 के लिए 21 अरब करंसी नोट की छपाई का ऑर्डर दिया है, जबकि इससे पिछले वित्‍त वर्ष में यह ऑर्डर 28 अरब नोटों का था। पिछले पांच सालों से सालाना औसत प्रिंटिंग ऑर्डर 25 अरब नोट का रहा है। आर.बी.आई. के ताजा आंकड़ों के मुताबिक 13 अक्‍टूबर तक 15.3 लाख करोड़ रुपए मूल्‍य के नोट चलन में आ चुके हैं।

यह एक साल पहले की तुलना में केवल 10 प्रतिशत कम हैं। एक वरिष्‍ठ अधिकारी ने बताया कि करेंसी चेस्‍ट और आर.बी.आई. तिजोरियों में नए नोट रखने की बहुत कम जगह बची है। दो अन्‍य लोगों ने कहा कि आर.बी.आई. की तिजोरियां और करंसी चेस्‍टों में बंद हो चुके 500 और 1000 रुपए के नोट भरे पड़े हैं। इन नोटों की अभी भी गिनती जारी है इस वजह से इन्‍हें नष्‍ट नहीं किया जा रहा है।



यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!