शेल कंपनियों को लेकर RBI और ईडी हुए आमने- सामने

Wednesday, September 13, 2017 2:40 PM
शेल कंपनियों को लेकर RBI और ईडी हुए आमने- सामने

नई दिल्लीः शेल कंपनियों के जरिए काला धन सफेद करने वालों को पकड़ना मुश्किल होता जा रहा है। जानकारी के मुताबिक एन्फोर्समेंट डायरेक्टोरेट यानि ईडी चाहता है कि मोटी रकम की अवैध लेनदेन को पकड़ने के लिए रिजर्व बैंक एक ठोस व्यवस्था तैयार करे। लेकिन रिजर्व बैंक ने ईडी के इस प्रस्ताव को खारिज कर दिया है। अब प्रधानमंत्री कार्यालय मामला सुलझाने में जुटा है।

सूत्रों का कहना है कि ईडी चाहता है कि लेनदेन पर नजर रखने के लिए आर.बी.आई. में सिस्टम बने। आर.बी.आई. के पास आर.टी.जी.एस. ट्रांसफर होने वाली रकम की जानकारी हो। आर.बी.आई. के पास एक बैंक से दूसरे बैंक में ट्रांसफर की जानकारी हो। आर.बी.आई. के पास मॉनिटरिंग सिस्टम संदेह होने पर अलर्ट करने की व्यवस्था हो। अभी आर.बी.आई. और बैंक का डाटा में कोई तालमेल नहीं होता है।

रिजर्व बैंक ने ईडी के प्रस्ताव को खारिज किया है और आर.बी.आई. की दलील है कि संदेह होने पर बैंकों की ओर से फाइनेंशियल इंटेलीजेंस यूनिट यानि एफ.आई.यू. को जानकारी भेजी जाती है। लिहाजा एफ.आई.यू. की जानकारी के आधार पर ईडी जांच करें। आर.बी.आई. ने इस मामले को लेकर प्रधानमंत्री कार्यालय को चिट्ठी लिखी है। प्रधानमंत्री कार्यालय ने वित्त मंत्रालय से मामला सुलझाने को कहा है।




विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !