टाले गए नए प्रोजेक्टस, प्रॉपर्टी की कीमत भी की जा रही है कम

Friday, March 10, 2017 2:31 PM
टाले गए नए प्रोजेक्टस, प्रॉपर्टी की कीमत भी की जा रही है कम

नई दिल्लीः प्रॉपर्टी कंसल्टेंसी फर्म कुशमैन एंड वेकफील्ड की हालिया रिपोर्ट के मुताबिक, देश के टॉप 8 शहरों में नए प्रोजेक्ट लांच के टिकट साइज में सालाना आधार पर औसतन 14 फीसदी की गिरावट हुई। इसके अलावा नई यूनिट्स की टिकट वैल्यू में भी इस साल बदलाव हो सकता है। कई डिवेलपर्स अपनी यूनिट्स को सस्ता करने के लिए आकर्षक प्राइस ऑफर कर रहे हैं या यूनिट्स को छोटा करने में जुटे हैं।

कम की जा रही है प्रॉपर्टी की कीमत
कुशमैन एंड वेकफील्ड इंडिया के मैनेजिंग डायरेक्टर अंशुल जैन ने बताया, 'नोटबंदी के बाद कीमतें कम होने से रिहायशी प्रॉपर्टीज की मांग में धीरे-धीरे बढ़ौतरी देखने को मिल रही है। नतीजन, होम बायर्स के लिए बेहतर वैल्यू तैयार करने के लिए डिवेलपर्स नए सिरे से अपनी स्ट्रैटेजी तैयार कर रहे हैं।' इसके तहत कई डिवेलपर्स प्रॉपर्टी की वास्तविक कीमत को कम कर रहे हैं और अपनी इनवेंटरी होल्डिंग को घटाने के लिए नए प्रोजेक्ट लांच को सीमित कर रहे हैं। ज्यादातर शहरों में डिवेलपर्स ने टिकट साइज को छोटा करने की कोशिश की है, खास तौर पर हाई एंड और लग्जरी सेगमेंट में, जिस पर सबसे ज्यादा मार पड़ी है।

फिलहाल नए प्रोजेक्टस टाल दिए गए हैं
डिवेलपर्स के मुताबिक नए प्रोजेक्ट का लांच टाल दिया है, क्योंकि मार्कीट में रियल एस्टेट रेगुलेटर को लेकर काफी अनिश्चिततता है।' मार्कीट सेंटीमेंट के मद्देनजर 2016 में नई हाउसिंग यूनिट्स की कुल संख्या 1 फीसदी गिरकर 1,13,000 यूनिट्स रही। इनमें से कुल लांच की गई यूनिट्स में मिड हाउसिंग सेगमेंट की हिस्सेदारी 56 फीसदी थी। इसके बाद 32 फीसदी के साथ वैल्यू हाउसिंग सेगमेंट का नंबर रहा। सालाना आधार पर वैल्यू हाउसिंग सेगमेंट में 22 फीसदी से भी ज्यादा की बढ़ौतरी हुई और यह आंकड़ा 36,300 यूनिट्स रहा। दूसरी तरफ हाई एंड सेगमेंट सबसे ज्यादा प्रभावित रहा, जहां संबंधित साल के दौरान लांच हुए प्रोजेक्ट्स की संख्या घटकर आधी यानी 12,000 यूनिट्स रह गई।



विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !