बुध और शुक्र की बदली चाल से गिरा बाजार, मार्च तक राहत नहीं

Tuesday, February 6, 2018 5:35 PM
बुध और शुक्र की बदली चाल से गिरा बाजार, मार्च तक राहत नहीं

वैदिक ज्योतिष का संबंध जीवन के हर पहलू से लेकर रोजगार यहां तक की स्टोक मार्केट पर भी पड़ता है। पिछले कुछ दिनों से अमेरिका और भारत की स्टोक मार्केट में गिरावट नजर आ रही है। यह लेख वैश्विक ज्यतिष के आधार पर ऐसा स्पष्टिकरण देता है। जिस पर इस गिरावट की समिक्षा की जा सकती है। ज्योतिष के व्यावसायिक खंड के अनुसार बुध और शुक्र का संबंध बाजार के व्यापार पर मूल रूप से देखने को मिलता है। संपूर्ण वाणिज्यिक मूल्य रूप से बुध और शु्क्र पर तथा मांग और खपत पर निर्भर करता है। कालपुरूष सिद्धांत के अनुसार एस एम सी जी फास्ट मूविंग कंज्यूमर गुड्स कालपुरूष के भाव नंबर 2, 3, 6 और 7 से व्याप्त होते हैं। भाव न. 2 से खरीद क्षमता भाव न. 3 से उपभोग क्षमता भाव न. 6 से आयात और भाव न. 7 से निर्यात देखा जाता है।


ज्योतिष की गोचर प्रणाली के अनुसार दिनांक 13 जनवरी 2018 को 14.56 पर शु्क्र धनु राशि से मकर में प्रवेश कर गया था तथा मंगवार 6 फरवरी 2018 को 12 बजकर 10 मिनट पर शुक्र मकर से निकल कर कुंभ में आ गया था। शुक्रवार 2 मार्च 2018 को प्रात: 11. 54 पर शुक्र कुंभ में रहेगा। इसके बाद मीन में प्रवेश करेगा, इसके साथ ही बुध रविवार दिनांक 28 जनवरी 2018 को रात 1.13 मिनट पर धनु से निकल कर मकर में आ गया था। गुरूवार दिनांक 15 फरवरी 2018 से लेकर शनिवार दिनांक 3 मार्च 2018 को प्रात 7.20 तक बुध कुंभ को भोगता हुआ मीन में प्रवेश करेगा। मकर और कुंभ ये दोनों राशियां संसार की वाणिज्य अर्थव्यवस्था को संबोधित करती हैं। इसी के साथ ही शुक्रदेव 19 फरवरी 2018 को शाम 5 बजकर 59 मिनट पर अपनी अस्त स्थिती को छोड़ते हुए पुन: उदय हो जाएंगे साथ ही अस्त पड़े हुए बुध देव 6 मार्च 2018 को रात 2 बजकर 42 मिनट पर अपनी अस्त स्थिती से जल्दी उदय हो जाएंगे।


इस ग्रह स्थिती से यह ज्ञात होता है की बाजार की अर्थ व्यवस्थता तथा मार्किट में स्थिरता तथा मार्किट का सुदृढ़ होना मार्च के दूसरे सप्ताह से आरंभ हो जाएगा। 


आचार्य कमल नंदलाल
ईमेल: kamal.nandlal@gmail.com



अपना सही जीवनसंगी चुनिए | केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन