नोटबंदी ने RBI पर डाला ये असर, खर्च करवा दिए इतने करोड़

Saturday, August 12, 2017 6:17 PM
नोटबंदी ने RBI पर डाला ये असर, खर्च करवा दिए इतने करोड़

नई दिल्ली: नवम्बर 2016 में मोदी सरकार द्वारा किए गए नोटबंदी के फैसले ने आर.बी.आई. के 13 हजार करोड़ रुपए तक खर्च करा दिए। आर.बी.आई. को यह खर्च पुरानी करंसी वापस लेने के बदले नई करंसी प्रिंट करने पर उठाना पड़ा। इस बात का खुलासा एस.बी.आई. द्वारा तैयार की गई एक रिपोर्ट में हुआ है। आर.बी.आई. का यह खर्च अभी 500 करोड़ रुपए और बढ़ सकता है अगर वह नोटबंदी से पहले के समय से 90 फीसदी करंसी ही प्रिंट कराता है। अभी उस समय की तुलना में 84 फीसदी करंसी ही सिस्टम में आई है।

500 और 2000 रुपए पर सबसे ज्यादा खर्च
आर.बी.आई.. की रिपोर्ट के अनुसार नोटबंदी के समय 15.44 लाख करोड़ रुपए वैल्यू की करंसी वापस ली गई थी जिसमें से अभी तक 84 फीसदी करंसी सिस्टम में वापस आई। नोट पर प्रिटिंग कॉस्ट के आधार पर आर.बी.आई. अभी तक 12.13 हजार करोड़ रुपए खर्च कर चुका है।
PunjabKesari
अब आर.बी.आई. 200 रुपए के नोट भी प्रिंट कर रहा है। ऐसे में अगर 500 के साथ-साथ 200 रुपए के नोट भी प्रिंट करता है, तो उसका खर्च और बढऩे की आशंका है। एस.बी.आई. की रिपोर्ट के अनुसार प्रति सिक्कों के आधार पर 10 रुपए के एक सिक्के पर 6 रुपए का खर्च आया है। इसी तरह हर 500 रुपए के नोट पर 2.87 रुपए से लेकर 3.09 रुपए का प्रिटिंग खर्च आया है। जबकि 2000 रुपए के हर नोट पर 3.54 से 3.77 रुपए का खर्च आया है।



विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !