GST का नवीकरणीय ऊर्जा पर कोई असर नहीं, निम्न कर दर की जरूरत नहीं: गोयल

Friday, May 19, 2017 6:13 PM
GST का नवीकरणीय ऊर्जा पर कोई असर नहीं, निम्न कर दर की जरूरत नहीं: गोयल

नई दिल्लीः नवीरकणीय ऊर्जा शुल्क दरों के नए निचले स्तर को छूने के बीच बिजली मंत्री पीयूष गोयल ने आज कहा कि स्वच्छ ऊर्जा को बढावा देने के लिए निम्न करों की कोई जरूरत नहीं है और जी.एस.टी. प्रणाली का बिजली दरों पर कोई असर नहीं होगा। इसके साथ ही मंत्री ने उम्मीद जताई कि कोयले पर 5 प्रतिशत की निम्न जी.एस.टी. दर से बिजली वितरण कंपनियों को वहनीय दरों पर बिजली उपलब्ध कराने में मदद मिलेगी। यह दर इस समय 11.69 प्रतिशत है। नई जी.एस.टी. दरों के स्वच्छ ऊर्जा पर असर के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने संवाददाताआें से कहा, ‘अक्षय ऊर्जा को प्रोत्साहित करने के लिए हमें निम्न कीर दरों के समर्थन की जरूरत नहीं है। यह खुद में ही देश के लिए अच्छी है। यह प्रदूषण घटाती है। यह बिजली वितरण कंपनियों को 25 साल की दीर्घ अवधि के लिए वहनीय कीमतों पर बिजली उपलब्ध कराती है जो कि ग्रिड (समतुल्य कीमत) से भी कम है।’  

उल्लेखनीय है कि जी.एस.टी. परिषद ने विभिन्न उत्पादों के लिए शुल्क दरों को कल अंतिम रूप दिया। इसमें अक्षय ऊर्जा उपकरणों के लिए 5 प्रतिशत का कर दायरा रखा गया है। सौर ऊर्जा शुल्क दर घटकर 2.44 रुपए प्रति यूनिट के निचले स्तर पर आ गया है। यह ग्रिड समतुल्य शुल्क से भी कम है। मंत्री ने कहा, ‘सौर ऊर्जा की कीमत ग्रिड समतुल्य से नीचे चले गई है। पवन ऊर्जा के दाम भी लगभग ग्रिड समतुल्य दाम के समान ही है जबकि इसके लिए केवल एक ही बोली (1000 मेगावाट की नीलामी) हुई है।  
 




विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !