मौद्रिक नीति समीक्षा की बैठक आज से, क्या मिलेगा सस्ते कर्ज का तोहफा?

Tuesday, February 6, 2018 9:42 AM
मौद्रिक नीति समीक्षा की बैठक आज से, क्या मिलेगा सस्ते कर्ज का तोहफा?

नई दिल्‍लीः रिजर्व बैंक के गवर्नर ऊर्जित पटेल की अध्‍यक्षता में मौद्रिक नीति समीक्षा की दो दिवसीय बैठक आज से शुरू हो रही है। एम.पी.सी. की बैठक ऐसे समय में हो रही है जब महंगाई और तेल की कीमतें बढ़ रही हैं। ऐसे में माना जा रहा है कि रिजर्व बैंक लगातार तीसरी बार पॉलिसी रेट को मौजूदा स्‍तर पर ही बनाए रख सकता है। ऐसे में कर्ज सस्‍ता होने की उम्‍मीद कम है।

7 फरवरी को आएगा समीक्षा का ब्योरा
वर्ष 2017-18 की छठी द्विमासिक मौद्रिक नीति समीक्षा के लिए रिजर्व बैंक के गवर्नर उर्जित पटेल की अध्यक्षता वाली छह सदस्यीय मौद्रिक नीति समिति (एम.पी.सी.) की 6 और 7 फरवरी को बैठक होगी। केंद्रीय बैंक समीक्षा का ब्योरा बुधवार दोपहर जारी करेगा। आर.बी.आई. ने दिसंबर में मौद्रिक नीति समीक्षा में मुद्रास्फीति में वृद्धि की आशंका को देखते हुए मानक नीतिगत दर में कोई बदलाव नहीं किया। साथ ही चालू वित्त वर्ष के लिए आर्थिक वृद्धि दर के अनुमान को कम कर 6.7 प्रतिशत कर दिया। केंद्रीय बैंक ने अगस्त में नीतिगत दर रेपो 0.25 प्रतिशत कम कर 6 प्रतिशत कर दिया जो छह साल का न्यूनतम स्तर है।

दरों में कटौती की उम्‍मीद नहीं 
बैंक प्रमुखों तथा विशेषज्ञों का मानना है कि अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के दाम में वृद्धि के साथ मुद्रास्फीति में तेजी की आशंका को देखते हुए रिजर्व बैंक लगातार तीसरी बार नीतिगत दर को यथावत रख सकता है।

दिसंबर में महंगाई रही 5.21 फीसदी 
फूड आयटम की कीमतें बढ़ने के कारण दिसंबर माह में खुदरा महंगाई 5 फीसदी को पार कर 5.21 फीसदी तक पहुंच गई। वहीं नवंबर में उपभोक्‍ता मूल्‍य सूचकांक पर आधारित खुदरा महंगाई 4.88 फीसदी और नवंबर में यह 3.41 फीसदी थी। 



अपना सही जीवनसंगी चुनिए | केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन