PMAY की धीमी चाल से मोदी नाराज, राज्यों को रोडमैप बनाने का आदेश

Thursday, July 20, 2017 1:26 PM
PMAY की धीमी चाल से मोदी नाराज, राज्यों को रोडमैप बनाने का आदेश

नई दिल्लीः 2022 तक सबको घर दिलाने के प्रॉजेक्ट प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी) की धीमी चाल से नाराज पी.एम. मोदी ने प्रॉजेक्ट पूरा करने के लिए राज्यों से प्राथमिकताएं निर्धारित कर रोडमैप पी.एम.ओ. को भेजने को कहा है। कैबिनेट सचिव इन रोडमैप को मॉनिटर करेंगे। केंद्र सरकार शहरी स्थानीय इकाइयों और अन्य एजेंसियों को राज्यों के जरिए प्रॉजेक्ट पूरा करने के लिए फंड मुहैया करा रही है। इस योजना के तहत 2022 तक शहरी गरीबों के लिए 4,025 शहरों में 2 करोड़ अफोर्डेबल घर बनाने हैं।

2017-18 के अंत तक काम पूरा करने का आदेश
पी.एम. मोदी ने 12 जुलाई को विडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए राज्य के मुख्य सचिवों से यह सुनिश्चित करने को कहा है कि 2015-16 और 2016-17 में स्वीकृत हुए घरों को 2017-18 के अंत तक पूरा कर लिया जाए। राज्यों द्वारा भेजे गए प्रस्तावों के आधार पर 2015 से मार्च 2017 तक 2000 शहरों में केवल 17 लाख घरों की स्वीकृति मिली थी। कुल 95,660 करोड़ रुपए के निवेश में केंद्र द्वारा 27,879 करोड़ रुपए मिलने थे।
PunjabKesari
गरीबों को मिलेगी 1.5 लाख की सब्सिडी
केंद्र सरकार द्वारा स्वीकृति केवल उन्हीं राज्यों की लिस्ट को मिली थी जिन्होंने लाभार्थियों की वेरिफाइड लिस्ट भेजी थी। कई राज्यों द्वारा भेजी गई लिस्ट में लाभार्थी वेरिफाइड नहीं थे। अभी तक यह जानकारी नहीं है कि राज्यों ने इस योजना के तहत 2015 से अभी तक कितने घर बनाए गए हैं। शहरी विकास मंत्रालय ने हाउजिंग टेक एक्सपर्ट्स के साथ स्कीम का ज्यादा अच्छे से क्रियान्वयन करने के लिए वर्कशॉप आयोजित करने को भी कहा है। 




विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !