Force India का नाम बदलना चाहते हैं माल्या

Thursday, June 15, 2017 2:35 PM
Force India का नाम बदलना चाहते हैं माल्या

लंदनः देश छोड़कर फिलहाल ब्रिटेन में रह रहे भारतीय कारोबारी विजय माल्या अपनी सह मालिकाना हक वाली फार्मूला वन टीम फोर्स इंडिया का नाम बदलना चाहते हैं ताकि उन्हें ज्यादा प्रायोजक मिल सकें। ब्रिटेन के सिल्वरस्टोन स्थित लेकिन भारतीय लाइसेंस वाली फोर्स इंडिया टीम इससे पहले भी कई बदलाव झेल चुकी है। वर्ष 1991 में उसकी शुरूआत जार्डन के रूप में हुई और फिर 2006 में वह मिडलैंड बन गई। इसके एक वर्ष बाद टीम 2007 में स्पाइकर के रूप में जानी गई और 2008 में माल्या इसके सह मालिक बन गए और टीम फोर्स इंडिया बन गई बै।
PunjabKesari
अंतरराष्ट्रीय छवि के लिए बदला जा रहा नाम
माल्या का मानना है कि हमारी टीम अब पहले से काफी बेहतर हो गई है और कई अंतरराष्ट्रीय प्रायोजक उससे जुड़े हैं, लेकिन दुख की बात है कि इसके भारतीय प्रायोजक काफी कम हैं। उन्होंने कहा अब यह चर्चा चल रही है कि क्यों न इसका नाम बदल दिया जाए ताकि इसे अंतरराष्ट्रीय छवि मिल जाए जिससे ज्यादा अंतरराष्ट्रीय प्रायोजक आकर इससे जुड़ें। अभी बहुत लोगों को लग रहा है कि फोर्स इंडिया नाम मनोवैज्ञानिक रूप से इस दिशा में बाधा है। भारत सरकार और जांच एजेंसियों से लगातार भाग रहे फोर्स इंडिया के सह मालिक ने कहा कि मैं बाकी अंशधारकों के साथ मिलकर टीम के बारे में बड़े फैसले लेने के बारे में सोच रहा हूं लेकिन यह फैसले जल्दबाजी में नहीं होंगे। 
PunjabKesari
टीम को बेचने की खबरों का भी किया खंडन
61 साल के माल्या ने गत सप्ताह टीम को बेचने की खबरों का भी खंडन किया था। अप्रैल में ही ब्रिटिश पुलिस ने भारतीय एजेंसियों के आग्रह पर गिरफ्तार किया था। लेकिन बाद में उन्हें छोड़ दिया गया था। गौरतलब है कि भारत सरकार काफी समय से अब समाप्त हो चुकी किंगफिशर एयरलाइंस के मालिक के प्रत्यर्पण की मांग कर रही है जो गत वर्ष मार्च में देश छोड़कर लंदन भाग गये थे। 



यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!