जानिए नोटबंदी से कितना भरा सरकार का खजाना?

Saturday, March 18, 2017 11:30 AM
जानिए नोटबंदी से कितना भरा सरकार का खजाना?

नई दिल्लीः नोटबंदी के बाद अघोषित आय पर अब तक 6,000 करोड़ रुपए का टैक्स वसूला गया है। काले धन पर गठित विशेष जांच दल (SIT) के उपाध्यक्ष जस्टिस अरिजित पसायत ने यह जानकारी देते हुए संभावना जताई कि टैक्स के रूप में सरकारी खजाने में आई यह राशि आगे और बढ़ सकती है।

पसायत ने यह बताने से तो इनकार कर दिया कि इस जुर्माने से कुल कितना धन एकत्र होने का अनुमान है लेकिन इतना जरूर कहा कि यह राशि काफी ज्यादा होने की उम्मीद है। उन्होंने कहा कि नोटबंदी के बाद कालेधन के खिलाफ चलाई गई मुहिम के पहले चरण में 50 लाख रुपए या उससे ज्यादा रकम जमा करने वालों पर नजर रखी गई। उन्होंने बताया कि इन जमाकर्ताओं को ईमेल और एसएमएस भेजे गए, जिस पर कई लोग सजा से बचने के लिए टैक्स अदा करने को तैयार हो गए।

1,092 लोगों ने नहीं दिया नोटिस का जवाब
पसायत ने बताया कि ओडिशा जैसे गरीब माने जाने वाले राज्य में हजारों लोगों को ऐसे ई-मेल और एस.एम.एस. भेजे गए हैं। उन्होंने कहा, '50 लाख रुपए जमा कराने वाले 1,092 लोगों ने नोटिस का जवाब नहीं दिया है।' उन्होंने कहा कि जमा की गई हर राशि को जांचने में टैक्स अधिकारियों को कड़ी मशक्कत करनी पड़ी है। उन्होंने बताया कि बैंक खातों में बड़ी राशि जमा करने वाले व्यापारियों को पिछले 3 साल का बैलंस शीट पेश करने के साथ ही हर साल के टैक्स रिटर्न का ब्यौरा भी मांगा गया है।

सरकारी अधिकारियों के साथ सख्ती से आएं पेश 
एस.आई.टी. उपाध्यक्ष ने बताया कि टैक्स अधिकारियों को निर्देश दिया गया है कि वे बड़ी राशि जमा कराने वाले सरकारी अधिकारियों के साथ सख्ती से पेश आएं। उनकी तरफ से जमा कराई गई अघोषित नकदी को भ्रष्टाचार निरोधक कानून के तहत जब्त किया जाएगा। उन्होंने कहा, 'ओडिशा में एक वन मंडल अधिकारी (डीएफओ) ने 2.5 करोड़ रुपए जमा कराए हैं। जाहिर है कि वह इस राशि का स्रोत नहीं बता सकते। ऐसे में उनका पूरा पैसा जब्त कर लिया जाएगा, क्योंकि यह रिश्वत का पैसा है।'




विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !