ज्वेलर्स कर रहे अघोषित सोने को वैध बनाने की कोशिश!

Monday, May 15, 2017 10:26 AM
ज्वेलर्स कर रहे अघोषित सोने को वैध बनाने की कोशिश!

नई दिल्लीः जी.एस.टी. लागू होने से पहले ज्वेलर्स बिना हिसाब-किताब रखे सोने को अपने खाते में दिखाने की जद्दोजहद में लगे हुए हैं। 1 जुलाई को जी.एस.टी. लागू होने के बाद ज्वेलर्स को अपना स्टॉक घोषित करना होगा और उसके बाद की सभी बिक्री नई टैक्स व्यवस्था के तहत होगी। इससे निपटने के लिए ज्वेलर्स पुरानी ज्वेलरी को या तो कैश में बेच रहे हैं या उसे खाते में दिखाने के लिए बिल खरीद रहे हैं।

कारोबारी अनुमान के मुताबिक ज्वेलर्स ने पिछले 4 महीने में करीब 300 टन सोना अपने खातों में शामिल किया है। हालांकि, अघोषित सोने को नियमित करने में ज्वेलर्स को काफी खर्च लगेगा साथ ही टैक्स भी चुकाना होगा।



यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!