चीनी उत्पादन में भारी कमी आएगी: इस्मा

Tuesday, March 7, 2017 7:12 PM
चीनी उत्पादन में भारी कमी आएगी: इस्मा

नई दिल्लीः चीनी मिलो के शीर्ष संगठन इस्मा ने चालू चीनी सत्र में चीनी उत्पादन अनुमान को घटाकर करीब 203 लाख टन कर दिया है। इससे पहले इस्मा ने 25 जनवरी को जारी रिपोर्ट में चालू चीनी सत्र के लिए 213 लाख टन चीनी उत्पादन होने का अनुमान जताया था। संगठन ने 25 जनवरी को चीन उत्पादन के अनुमान में कटौती की थी और 2 महीने से भी कम समय में यह दूसरी कटौती है। उसका कहना है कि 25 जनवरी को हुई बैठक के बाद अनुमान जारी किया गया था लेकिन इसके बाद जनवरी तथा फरवरी में गन्ने की फसल अनुमान से बहुत कम हुई जिससे चीनी उत्पादन का पहले किया अनुमान भी कम 10 लाख टन कम करके 203 लाख टन कर देना पड़ा है।

इस्मा के सदस्यों ने कल हुई बैठक में विभिन्न राज्यों में हुए कुल गन्ना उत्पादन के आंकड़े को देखते हुए अपना पूर्वानुमान घटाने का फैसला किया। लगातार 2 साल से सूखे की चपेट में रहने से महाराष्ट्र, कर्नाटक, आंध्रप्रदेश और तेलंगाना में गन्ने की फसल पर बुरा असर पड़ा है, जिससे प्रति हैक्टेयर इसका उत्पादन भी घट गया है। इस साल फरवरी में कुछ इलाकों में प्रति हैक्टेयर उत्पादन गत चीनी सत्र की तुलना में 40 से 50 फीसदी तक घट गया है।   

महाराष्ट्र के मात्र 17 मिलों को छोड़कर सभी चीनी मिलों में पेराई बंद हो गई है, इसलिए वहां 42 लाख टन चीनी उत्पादन का अनुमान है। इसी तरह कर्नाटक की चीनी मिलों ने भी काम बंद कर दिया है लेकिन जुर्ला से सितंबर 2017 तक विशेष सीजन होने के कारण वहां 21.25 लाख टन चीनी उत्पादन का अनुमान है।  



यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!