इस्मा का 2016-17 के लिए चीनी उत्पादन का अनुमान भ्रामक: पासवान

Wednesday, March 15, 2017 10:59 AM
इस्मा का 2016-17 के लिए चीनी उत्पादन का अनुमान भ्रामक: पासवान

नई दिल्ली: खाद्य मंत्री रामविलास पासवान ने चीनी उद्योग के प्रमुख संगठन भारतीय चीनी मिल संघ (इस्मा) के वर्ष 2016-17 के लिए चीनी उत्पादन अनुमान में लगातार कमी किए जाने पर एेतराज जताते हुए कहा कि संगठन का अनुमान भ्रामक है। देश में चीनी की कोई कमी नहीं है और आयात की आवश्यकता नहीं है।

मंत्री ने कहा कि खाद्य मंत्रालय चीनी उत्पादन के संबंध में व्यक्त अनुमानों को इस्मा के सामने उठाएगा। पासवान ने संवाददाताआें से कहा, "उन्हें (उत्पादन अनुमान घोषित करने का) किसने अधिकार दिया है? आप उनके उत्पादन के आंकड़ों पर यकीन नहीं कर सकते। वे गलत आंकड़ों को पेश कर लोगों और उद्योग जगत को भ्रमित कर रहे हैं। उन्हें एेसा नहीं करना चाहिए।" उन्होंने कहा कि वर्ष 2016-17 विपणन वर्ष (अक्तूबर से सितंबर) के लिए चीनी उत्पादन अनुमान में किया गया बार बार का संशोधन इस उद्योग संगठन की साख पर प्रश्नचिन्ह लगाता है।  

पासवान ने कहा कि इस्मा ने 2016-17 में 2.03 करोड़ टन चीनी उत्पादन का अनुमान घोषित किया है। इससे पहले उद्योग संगठन ने 2.13 करोड़ टन उत्पादन का अनुमान व्यक्त किया था। यह अनुमान दो माह पहले ही घोषित किया गया। इससे पहले सितंबर में इस्मा ने वर्ष के दौरान 2.34 करोड़ टन चीनी उत्पादन का अनुमान व्यक्त किया था।   उन्होंने कहा कि पिछले साल भी चीनी मिलों के इस संगठन ने पहले 2.80 करोड़ टन उत्पादन का अनुमान लगाया था और बाद में इसे घटाकर 2.51 करोड़ टन कर दिया।   पासवान ने चीनी उद्योग और जनता से इस्मा के गलत अनुमानों से भ्रमित नहीं होने का आग्रह करते हुए कहा, ‘‘देश में चीनी की कोई कमी नहीं है। हमारे पास काफी स्टॉक है और आयात की जरूरत नहीं है।’’ 




विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !