सस्ती हो सकती है गोल्ड ज्वैलरी, GST काऊंसिल ने कम किया मेकिंग चार्ज

Monday, June 12, 2017 12:17 PM
सस्ती हो सकती है गोल्ड ज्वैलरी, GST काऊंसिल ने कम किया मेकिंग चार्ज

नई दिल्लीः गोल्ड ज्वैलरी के खरीददारों पर टैक्स का बोझ कम करने और कीमतों में ट्रांसपेरेंसी को बढ़ावा देने के लिए जी.एस.टी. काऊंसिल ने रविवार को हुई बैठक में गोल्ड ज्वैलरी पर मेकिंग चार्ज को 18 फीसदी से घटाकर 5 फीसदी कर दिया। जी.एस.टी. काऊंसिल ने कुल 66 आइटम्स पर जी.एस.टी. दर कम कर दि‍ए हैं। 

ट्रांसपेरेंसी बढ़ाने में मदद मिलेगी
जी.एस.टी. काऊंसिल ने हाल ही में गोल्ड, जेम्स और ज्वैलरी पर 3 फीसदी तक जी.एस.टी. रेट तय किया था। साथ ही काऊंसिल ने शुरू में सोने पर मेकिंग चार्ज के लिए 18 फीसदी का जी.एस.टी. रेट तय कि‍या था। इससे कंज्यूमर पर 4 फीसदी टैक्स का अतिरिक्त बोझ बढ़ गया था, जो ज्वैलरी पर 1 फीसदी वैट और एक्साइज से दोगुना ज्यादा था।   
PunjabKesari
जेम एंड ज्वैलरी फेडरेशन के चेयरमैन नितिन खंडेलवाल ने कहा कि मेकिंग चार्ज में कटौती से ना सिर्फ कंज्यूमर पर से बोझ कम होगा, बल्कि इससे ट्रांसपेरेंसी को बढ़ाने में भी मदद मिलेगी।   
PunjabKesari
गोल्ड, सिल्वर और डायमंड ज्वैलरी के लिए ये रहेंगी जी.एस.टी. रेट 
जी.एस.टी. काऊंसिल की 15वीं मीटिंग में गोल्ड और गोल्ड ज्वैलरी के लिए 3 फीसदी जी.एस.टी. रेट तय की थी, वहीं सिल्वर और सिल्वर ज्वैलरी के लिए 3 फीसदी रेट तय की थी। इसके अलावा डायमंड और डायमंड ज्वैलरी के लिए भी यही रेट तय की गई थी। 




विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !