रूई : कई स्टॉकिस्टों को सता रहा है अरबों रुपए का स्टॉक

Monday, May 15, 2017 10:17 AM
रूई : कई स्टॉकिस्टों को सता रहा है अरबों रुपए का स्टॉक

जैतो: भारत के विभिन्न कपास उत्पादक राज्यों की मंडियों में अब तक लगभग 3 करोड़ 5 लाख गांठ व्हाइट गोल्ड की पहुंचने की सूचना है। अधिकांश निजी रूई कारोबारियों का मानना है कि चालू कपास सीजन के दौरान 30-35 लाख गांठ व्हाइट गोल्ड की और मंडियों में आ सकती है। बाजार जानकार सूत्रों के अनुसार चालू कपास सीजन के दौरान अधिकांश कपास जिनरों, ट्रेडर्सों व मल्टीनैशनल कम्पनियों ने रूई में मोटी तेजी आने की बड़ी उम्मीद से अरबों रुपए दाव पर लगाकर लाखों गांठ का स्टॉक स्टोर कर लिया।

रूई बाजार में लगा अचानक बैक गीयर
मल्टीनैशनल कम्पनियों ने तो तेजी की बहती गंगा में डुबकी लगाते हुए अपना रूई का स्टॉक मार्कीट में बेचा और बड़ा आर्थिक मुनाफा कमाया लेकिन दूसरी ओर अधिकांश निजी व्यापारी कपास जिनर व ट्रेडर्स रूई भाव में और तेजी आने की उम्मीद को लेकर तेजी की बहती गंगा में डुबकी लगाने से पीछे रह गए क्योंकि उन्हें बड़ी उम्मीद थी कि रूई बिना पंखों के पंजाब में 4920 व हरियाणा एवं राजस्थान राज्यों में 4820 रुपए मन से ऊपर उड़ सकती है और रूई भाव 5000-6000 रुपए मन रिकार्ड भाव कई सालों बाद बना सकती है। इस सपने ने ही अधिकांश तेजडिय़ों ने मंदी बंद कर रखी लेकिन रूई बाजार ने अचानक बैक गीयर लगा दिया और रूई 225-250 रुपए मन लुढ़क गई। रूई बाजार में यह भाव घटने को बड़ी मंदी माना जाता है। 




विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !