रूई तेजडिय़ों की पिटारी खुलने पर लगी ब्रेक, 150 रुपए की तेजी

Sunday, July 30, 2017 11:22 AM
रूई तेजडिय़ों की पिटारी खुलने पर लगी ब्रेक, 150 रुपए की तेजी

जैतो: भारत में कपास सत्र 2017-18 खरीफ फसल के दौरान कपास की बुआई के बड़ी मात्रा में आंकड़े आने से देश में कपास पैदावार 4 करोड़ गांंठ से अधिक होने के कयास लगाए जा रहे थे। रूई के मंदडिय़ों का अनुमान था कि यह पैदावार 4.25 करोड़ गांठ से ज्यादा होगी। बाजार जानकार सूत्रों के अनुसार इस बार गुजरात में 40-45 प्रतिशत अधिक कपास की बुआई के आंकड़े मार्कीट में आ रहे थे लेकिन गत सप्ताह गुजरात में भारी बारिश ने खरीफ फसल व कपास सहित अन्य फसलों की भारी हानि की है।

रूई तेजडिय़ों का मानना है कि बारिश ने 50 प्रतिशत से अधिक कपास फसल बर्बाद कर दी है। बीते शनिवार पंजाब में रूई भाव 4340-4345 रुपए मन, हरियाणा 4340-45, राजस्थान हनुमानगढ़ सर्कल 4340-4345 रुपए मन व लोअर राजस्थान 42000-42400 रुपए कैंडी भाव थे जो अब पंजाब रूई 4490-4500 रुपए, हरियाणा 4485-4500, राजस्थान 4485-4500 रुपए व लोअर राजस्थान 43200-44000 रुपए कैंडी उछाल मार गई। कल शुक्रवार को ऐसा लगता था कि रूई स्टाकिस्टों (कपास जिनरों) की लक्ष्मी जी के खजाना मंत्री कुबेर जी बड़ी पिटारी खोलने जा रहे हैं लेकिन आज फिर रूई बाजार 15-20 रुपए मन लुढ़क गया और पिटारी खुलने पर ब्रेक लग गई।

अब रूई बिकवाल (स्टाकिस्ट) आगामी सोमवार-मंगलवार की रूई मार्कीट को देखकर ही कारोबार करेंगे। रूई बाजार में एक हफ्ते के अंदर लगभग 150-160 रुपए मन तेजी का उछाल आया है। हरियाणा में 20 से 30 सितम्बर डिलीवरी रूई भाव 4270-4275 रुपए मन व अक्तूबर डिलीवरी भाव 4200 रुपए मन बोले गए लेकिन इन भावों में कारोबार दर्ज नहीं हुआ। बाजार में सितम्बर डिलीवरी रूई की मांग स्पिङ्क्षनग मिलों की चल रही है। मिलें शर्त कंडीशन पर रूई मांग रही हैं।



यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!