GST से पहले शेयर बाजार में देखी जा सकती है सतर्कता

Sunday, June 18, 2017 12:18 PM
GST से पहले शेयर बाजार में देखी जा सकती है सतर्कता

मुंबईः अमरीकी फेडरल रिजर्व द्वारा ब्याज दरों में बढ़ोतरी के दबाव में घरेलू शेयर बाजारों में पिछले सप्ताह गिरावट रही। आने वाले सप्ताह में वस्तु एवं सेवाकर (जीएसटी) के देश भर में लागू होने से पहले निवेशक सतर्क रुख अपना सकते हैं।
गत सप्ताह बी.एस.ई. का सैंसेक्स 0.65 प्रतिशत यानी 205.66 अंक लुढ़ककर सप्ताहांत पर 31,056.40 अंक पर आ गया। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का मुख्य सूचकांक निफ्टी भी 80.20 अंक की गिरावट के साथ 9,588.05 अंक पर रहा। मझौली कंपनियों पर भी दबाव रहा। 
PunjabKesari
बी.एस.ई. का मिडकैप 0.45 प्रतिशत की साप्ताहिक गिरावट में रहा, हालांकि, छोटी कंपनियों में निवेशकों का विश्वास बना रहा और बीएसई का स्मॉलकैप 0.75 प्रतिशत की साप्ताहिक तेजी के साथ बंद हुआ।अमरीकी फेडरल रिजर्व ने गत बुधवार को समाप्त अपनी बैठक में मानक ऋण दरें 0.25 प्रतिशत बढ़ाकर एक से 1.25 प्रतिशत कर दिया। इससे भारत के साथ अन्य देशों के शेयर बाजार भी लुढ़क गए। अगले सप्ताह निवेशक जी.एस.टी. के मद्देनजर सतर्कता बरत सकते हैं। अप्रत्यक्ष कर की नयी व्यवस्था 01 जुलाई से लागू होनी है।
PunjabKesariजी.एस.टी. परिषद् की 18 जून को होने वाली बैठक में इसके सभी छूटे पहलुओं को अंतिम रूप दिए जाने और वस्तुओं एवं सेवाओं के स्लैबों में छिटपुट अंतिम बदलाव की उम्मीद है। बीते सप्ताह के पहले दिन सोमवार कमजोर वैश्विक संकेतों से बाजार ने गिरावट के साथ शुरुआत की। सैंसेक्स 166.36 अंक लुढ़ककर 31,095.70 अंक पर खुला। मंगलवार को यह लगभग स्थिर रहा। सैंसेक्स में 7.79 अंक की तेजी देखी गयी जबकि बुधवार को 52.42 अंक चढ़ा। फेड की दरों की घोषणा के बाद गुरुवार को सेंसेक्स 80.18 अंक लुढ़क गया। सप्ताह के अंतिम दिन इसकी शुरुआत अच्छी रही, लेकिन अंतिम घंटे के कारोबार में बिकवाली का जोर ज्यादा रहने से यह 19.33 अंक गिरकर 31,056.40 अंक पर बंद हुआ।
 



यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!