एयर कोस्टा की समस्या बढ़ी, 40 पायलटों ने कंपनी छोड़ी

Sunday, March 19, 2017 7:12 PM
एयर कोस्टा की समस्या बढ़ी, 40 पायलटों ने कंपनी छोड़ी

नई दिल्लीः समस्याओं में फंसी एयर कोस्टा की समस्या बढ़ती जा रही है। वेतन का भुगतान नहीं होने से पिछले कुछ सप्ताह में 40 पायलट समेत कंपनी के कई कर्मचारी छोड़कर चले गए हैं। मई तक टिकट की बुकिंग बंद कर रखी एयरलाइसंस परिचालन फिर से शुरू करने को लेकर कोष की समस्या से जूझ रही है लेकिन वह निवेशकों को जोडऩे में अबतक ज्यादा प्रगति नहीं कर पाई है। 

एयर कोस्टा की खराब होती वित्तीय स्थिति के साथ उसके 450 कर्मचारी चौराहे पर हैं। कर्मचारियों को पूर्व किंगफिशर एयरलाइंस की स्थिति दोहराए जाने की आशंका है। किंगफिशर एयरलाइंस 2012 में बंद हो गई जिससे सैंकड़ों कर्मचारियों को नौकरी से हाथ धोना पड़ा। वित्तीय समस्याओं से जूझ रही विजयवाड़ा की एयर कोस्टा के विमान 28 फरवरी से उड़ान नहीं भर रहे। 

एक सूत्र ने बताया कि कर्मचारियों को फरवरी का वेतन नहीं मिला जबकि आधे से अधिक कर्मचारियों को जनवरी से कोई पैसा नहीं मिला। इससे पहले, एयर कोस्टा ने अपना परिचालन अगस्त 2016 में निलंबित किया था।उस समय विमान पट्टे पर देने वाली जीई कैपिटल एविएशन सर्विसेज ने अपने 3 विमान वापस ले लिए थे। इसका कारण यह था कि विमानन कंपनी किराया नहीं दे पाई थी।  

एयर कोस्ट के एक वरिष्ठ कर्मचारी ने कहा, ‘‘मौजूदा 450 कर्मचारियों को वेतन नहीं मिला है। जिस तरीके से प्रवर्तकों ने मई तक उड़ान सेवा रोकी है, उससे लगता है कि कंपनी किंगफिशर के रास्ते पर जा रही है।’’ उसने कहा कि एयर कोस्ट के प्रवर्तकों ने जनवरी और फरवरी का वेतन 15 मार्च तक देने का वादा किया था लेकिन वे विफल रहे। सूत्र के अनुसार एयरलाइन को सेवा शुरू करने के लिए करीब 200 करोड़ रुपए की जरूरत है। इस बारे में संपर्क किए जाने पर एयरलाइन के प्रवक्ता कवि चौरसिया ने कहा, ‘‘एयर कोस्टा कोष जुटाने और यथाशीघ्र सेवा शुरू करने के लिए हर संभव प्रयास कर रही है।’’ 




विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !