अभी तक 51 प्रतिशत राशन की दुकानों पर लगे POS मशीन

Saturday, September 9, 2017 12:07 PM
अभी तक 51 प्रतिशत राशन की दुकानों पर लगे POS मशीन

नई दिल्ली: खाद्य मंत्री रामविलास पासवान ने कहा कि आधार से जुड़े ‘प्वायंट आफ सेल’ (पी.ओ.एस.) उपकरणों को 51 प्रतिशत राशन की दुकानों पर स्थापित किया गया है। बाकी स्थानों पर वर्ष के अंत तक इन उपकरणों को लगा दिया जायेगा। देश में राशन की दुकानों की संख्या 5.45 लाख है। उन्होंने कहा कि पी.ओ.एस. के जरिए राशन की दुकानों के जरिए बिक्री केंद्र स्तर पर निगरानी रखी जा सकती है। इसके लिए एक वेबसाइट ‘www.fooddistributer.nic.in’ को विकसित किया गया है और जल्द ही इसकी शुरुआत की जाएगी।

राज्यों को काम में तेजी लाने को कहा
खाद्य कानून के अनुसार राज्यों को सार्वजनिक वितरण प्रणाली (पी.डी.एस.) के तहत वितरण में पारर्दिशता लाने और रिसाव को रोकने के लिए राशन की दुकानों में पी.ओ.एस. उपकरणों को लगाना होगा। इस संदर्भ में एक समीक्षा बैठक के बाद पासवान ने बताया, ‘‘अभी तक पी.ओ.एस. मशीनों को 2.68 लाख दुकानों में लगाया गया है जो कुल दुकानों का 51 प्रतिशत भाग है। कुछ राज्यों ने पूरा लगाया है जबकि बाकी इसे लगाने की प्रक्रिया में हैं। राम विलास पासवान ने कहा कि आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु और मध्य प्रदेश सहित कम से कम 10 राज्यों ने इस काम को पूरी तरह से किया है जबकि महाराष्ट्र, राजस्थान, झारखंड और छत्तीसगढ़ जैसे राज्यों ने 90 प्रतिशत से अधिक काम को पूरा कर लिया है। उन्होंने कहा, ‘‘उत्तर प्रदेश और बिहार जैसे कुछ राज्य हैं जहां यह काम धीमा चल रहा है। मैंने उन्हें काम में तेजी लाने को कहा है।’’       PunjabKesariक्या है POS मशीन 
पी.ओ.एस. मशीन हाथ से संचालित मशीन है जो वितरण के समय आधार के पहचान को पुष्टि करती है और इससे सुनिश्चित किया जा सकता है लाभार्थियों को उनका आवंटित राशन प्राप्त हो। उन्होंने कहा, ‘‘मौजूदा समय में वेबसाइट को परीक्षण स्तर पर चलाया जा रहा है। यह अगले कुछ महीनों में पेशकश के लिए तैयार होगा। मुझे उम्मीद है कि तब तक सभी राज्य पी.ओ.एस. मशीन को लगाने के काम को पूरा कर लेंगे और आंकड़ों को आनलाइन लिया जा सकता है।’’ खाद्य कानून के तहत सरकार देश की लगभग दो तिहाई आबादी को प्रति व्यक्ति प्रति माह एक से तीन रुपए प्रति किलो की दर से सब्सिडीप्राप्त पांच किलो खाद्यान्न प्रदान करती है।      
 



यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!